जेडीयू के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष बने ललन सिंह

1028
0
SHARE

पटना : जेडीयू के सांसद ललन सिंह को नया राष्ट्रीय अध्यक्ष बना दिया गया है। दिल्ली में आयोजित पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में सर्वसम्मती से ये फैसला लिया गया है। मालूम हो कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बेहद करीबी नेता आरसीपी सिंह के केंद्रीय मंत्री बनने के बाद से सूबे की सियासी गलियारों में ऐसी चर्चाएं थीं कि ललन सिंह को पार्टी की कमान सौंपी जा सकती है। इस पद के लिए पार्टी के संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष और पूर्व केन्द्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा भी प्रबल उम्मीदवार बताए जा रहे थे। लेकिन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ललन सिंह पर ही भरोसा जताया है। ललन सिंह पहले भी जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष रह चुके हैं।

दिल्ली में आयोजित राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह ही ललन सिंह के नाम का प्रस्ताव लाए। इस प्रस्ताव को सर्वसम्मति से मान लिया गया। ललन सिंह को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने पर सबसे पहले सीएम नीतीश कुमार ने बधाई दी। बैठक में मंच पर नीतीश कुमार, आरसीपी सिंह, केसी त्यागी, ललन सिंह और वशिष्ठ नारायण सिंह मौजूद थे।

बता दें कि बिहार के मुंगेर संसदीय सीट से सांसद राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह को भी नीतीश कुमार का करीबी माना जाता है। ललन सिंह को जेडीयू की बागडोर देने के साथ ही सीएम नीतीश कुमार ने एक तीर से कई निशाना साधा है। जातीय समीकरण के मुताबिक सवर्ण चेहरे के रुप में ललन सिंह को लाया गया है। वही, नीतीश कुमार के ऊपर लव-कुश को लगातार बढावा देने का भी आरोप खत्म हो जाएगा। अभी तक आरसीपी सिंह और नीतीश कुमार कुर्मी जाति से है वही, जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा और उपेंद्र कुशवाहा कोइरी जाति से है। ऐसे में कुल मिलाकर जेडीयू में लव-कुश का ही बोलबाला था। अब ललन सिंह के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद सवर्ण की एंट्री हुई है। हालंकि ललन सिंह को अध्यक्ष बनाए जाने के बाद अब यह तय है कि लोकसभा में जेडीयू संसदीय दल के नेता पद उन्हें छोड़ना पड़ेगा।

जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद ललन सिंह ने कहा कि पार्टी के सभी नेताओं से सलाह-मशविरा कर संगठन को और मजबूत किया जाएगा। पार्टी में किसी की उपेक्षा नहीं होगी। कोई अपनी चाहत, पसंदगी, नापसंदगी नहीं होगी। जो भी काम होगा सबकी सहमति से होगा।

अजय झा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here