ITBP के डीआईजी बनाये गये मनु महाराज

1063
0
SHARE

भारतीय प्रशासनिक सेवा के सात अधिकारी बदले गए हैं। छपरा रेंज के डीआईजी मनु महाराज केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर चले गए हैं। उन्हें आईटीबीपी में डीआईजी बनाया गया है। वहीं, प्रणव कुमार व मनु महाराज के अलावा, ललन मोहन प्रसाद, जितेन्द्र मिश्रा, राजेश त्रिपाठी व रवींद्र कुमार का तबादला हुआ है। सिंघम के नाम से मशहूर आईपीएस मनु महाराज अब बिहार से बाहर सेवा देंगे। बिहार के बड़े से बड़े अपराधी मनु महराज के नाम से खौफ खाता था, कई कांडों के खुलासे के बाद वह चर्चित रहे हैं। सारण से पहले वह मुंगेर के डीआईजी थे। उसके पहले पटना में एसएसपी भी रह चुके हैं। निगरानी अन्‍वेषण ब्‍यूरो में तैनात रविंद्र कुमार को सारण का नया डीआईजी बनाया गया है।

पटना के एसएसपी रहते और दूसरे जिलों में तैनात रहते हुए उन्‍होंने बड़े से बड़े केस को सुलझाया है। हाल ही में छपरा में डीआईजी रहते हुए एक सिरफिरे युवक ने मनु महाराज की फेक प्रोफाइल बना ली थी। वह मनु महाराज के नाम पर लड़कियों से अश्लील चैटिंग करने लगा। इस कांड का भी मनु महाराज ने खुलासा किया और झांसा देकर ठगी का प्रयास करने वाले गड़खा पहाड़पुर के रहने वाला मनु कुमार यादव को गिरफ्तार कर लिया गया।

कई बार तो मनु महाराज खुद पुलिस महकमे को ही सबक सिखाया। मनु अक्सर पटना की सड़कों पर अपने गनर के साथ चेहरा ढंककर बाइक से शहर की सुरक्षा देखने निकल पड़ते हैं। मनु महाराज एक बार अपनी बाइक से शहर में घूम रहे थे और शहर के बीचोंबीच सबसे वीवीआईपी थाना कोतवाली पहुंच गए। वहां उन्होंने देखा कि ड्यूटी पर तैनात पुलिसवाला और ड्राइवर आराम से सो रहे थे। मनु महाराज ने थाने से पुलिस की जीप चोरी कर ली। पूरी रात उसी जीप से पटना में घूमते रहे पर पुलिस को भनक नहीं लगी। अगले दिन ही मनु ने ड्यूटी पर तैनात पुलिस वालों को लापरवाही के आरोप में सस्पेंड कर दिया।

बता दें कि युवाओं में मनु महाराज को लेकर काफी क्रेज है। वह चर्चित आईपीएस ऑफिसर हैं और हिमाचल प्रदेश के रहने वाले हैं। उनकी शुरुआती पढ़ाई शिमला से हुई है। इसके बाद उन्होंने आईआईटी रुड़की से बीटेक किया। इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद यूपीएससी की तैयारी शुरू की। यूपीएससी क्लियर कर आईएएस रैंक मिला, इसके बावजूद मनु महाराज ने आईपीएस को चुना।

अजय झा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here