अग्नि प्राइम मिसाइल का ओडिशा में हुआ सफल परीक्षण, परमाणू हथियार ले जाने में सक्षम

2199
0
SHARE

भारत ने आज सुबह 10 बजकर 55 मिनट पर ओडिशा के तट पर डॉ अब्दुल कलाम टापू पर अग्नि श्रृंखला की एक नई मिसाइल अग्नि-प्राइम का सफल परीक्षण किया। अग्नि सीरीज की मिसाइल्स में सबसे आधुनिक अग्नि प्राइम की मारक क्षमता 1,000 से 2000 किलोमीटर है।

बताया जा रहा है कि नई परमाणु-सक्षम मिसाइल पूरी तरह से कंपोजिट मैटेरियल से बनी है और यह परीक्षण बिल्कुल प्लान के मुताबिक हुआ। अग्नि प्राइम को मोबाइल लॉन्च से भी फायर किया जा सकता है। समाचार एजेंसी एएनआई ने डीआरडीओ के अधिकारियों के हवाले से कहा, ‘पूर्वी तट के किनारे स्थित टेलीमेट्री और रडार स्टेशनों ने मिसाइल पर नज़र रखी और इसकी निगरानी की। पूरा लॉन्च प्लान के अनुसार हुआ, सटीकता के साथ सभी मिशन पूरे किए।

आंकड़ों के मुताबिक ‘अग्नि प्राइम’ एक छोटी दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल है जिसकी मारक क्षमता 1000 किमी से 2000 किमी होगी। यह सतह से सतह पर मार करने वाली मिसाइल है जो लगभग 1,000 किलोग्राम का पेलोड या परमाणु शस्त्र ले जाने में सक्षम है। डबल स्टेड वाली मिसाइल ‘अग्नि-1’ की तुलना में हल्की और अधिक पतली होगी। एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार अग्नि प्राइम को 4,000 km रेंज वाली अग्नि 4 और 5,000 km वाली अग्नि 5 में इस्तेमाल होने वाली तकनीक को मिलाकर बनाया गया है।
बता दें कि भारत ने पहली बार साल 1989 में अग्नि का परीक्षण किया था। उस वक्त इस मिसाइल की मारक क्षमता 700 से 900 किलोमीटर थी। साल 2004 में इसे सेना में शामिल किया गया था। भारत अब तक अग्नि सीरीज की पांच मिसाइल्स विकसित कर चुका है। उम्मीद है कि अग्नि प्राइम को भी जल्द ही सेना में शामिल किया जा सकता है।

अजय झा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here