पटना के मीठापुर बस स्‍टैंड का बदला ठिकाना, 15 जुलाई से पाटलिपुत्र बस टर्मिनल से खुलेगी सभी बसें

2224
0
SHARE

पटना : अब तक आप राजधानी पटना में आने के लिए या पटना से अपने जिला जाने के लिए मीठापुर से बस पकड़ कर जाते होंगे, लेकिन अब मीठापुर बस स्टैंड 15 जुलाई से पूरी तरह बंद हो जाएगा। इसकी जगह सभी यात्री बसें बैरिया स्थित नवनिर्मित पाटलिपुत्र बस टर्मिनल से खुलेंगी। नगर विकास एवं आवास विभाग के प्रधान सचिव आनंद किशोर ने बुधवार को अफसरों के साथ समीक्षा बैठक में यह निर्देश दिया। इस फैसले के लागू होने के बाद पटना जंक्‍शन से बस स्‍टैंड की दूरी दोगुना से अधिक हो जाएगी। वहीं पाटलिपुत्र जंक्‍शन और दानापुर स्‍टेशन पर ट्रेन छोड़ने-पकड़ने वाले लोगों को भी अब बस स्‍टैंड तक पहुंचने के लिए अधिक दूरी तय करनी होगी। आनंद किशोर ने पथ निर्माण विभाग के कार्यपालक अभियंता को निदेश दिया कि 15 जुलाई से पूर्व जीरो माइल से पाटलिपुत्र बस टर्मिनल के संपर्क पथ के चौड़ीकरण का कार्य पूर्ण कर लें। इसके साथ ही बस टर्मिनल के निकट पुलिया का निर्माण भी 20 जून तक कर लें। बुडको के प्रबंध निदेशक को मानूसन में भी निर्बाध रूप से काम जारी रखने के लिए वहां पर ट्रॉली माउंटेड पंप की सुविधा सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया।

नए बस टर्मिनल से फिलहाल जहानाबाद और गया जिले की बसों का परिचालन हो रहा है। प्रधान सचिव ने पदाधिकारियों को निदेश दिया कि 15 जून से नालंदा, नवादा, शेखपुरा और जमुई की यात्री बसें भी पाटलिपुत्र बस टर्मिनल से संचालित करने की आवश्यक कार्रवाई पूरी कर लें। इसी प्रकार धीरे-धीरे 15 जुलाई से सभी जिलों की बसों को नए बस स्टैंड से संचालित करने का प्लान बना लें। उन्होंने पाटलिपुत्र बस टर्मिनल के प्रथम तल की भांति भू-तल पर भी शौचालय, यूरिनल और पेयजल की सुविधा देने का निर्देश भी अफसरों को दिया, ताकि यात्रियों को किसी भी प्रकार की परेशानी न हो। प्रधान सचिव ने कहा कि पटना राजधानी होने के साथ – साथ प्रतिष्ठित अध्ययन केंद्र, आर्थिक गतिविधियों एवं चिकित्सा सुविधा का भी केंद्र है। राज्य के विभिन्न जिलों के साथ अन्य राज्यों से आम नागरिकों का बसों के माध्यम से भी काफी आवागमन होता रहता है। ऐसे में नए टर्मिनल को सभी सुविधाओं के साथ तैयार कर लिया जाए।


बैठक में डीएम चंद्रशेखर सिंह ने कहा कि जिला प्रशासन पाटलिपुत्र बस टर्मिनल से सभी बसों का संचालन करने के लिए पूरी तरह तैयार है। उन्होंने स्वयं पाटलिपुत्र बस टर्मिनल तथा मीठापुर के वर्तमान बस स्टैंड का निरीक्षण भी किया। बुडको के प्रबंध निदेशक रमन कुमार ने कहा कि पाटलिपुत्र बस टर्मिनल पर जलजमाव से निबटने के लिए भी तैयारी की गई है। बता दें कि 25 एकड़ में बने इस टर्मिनल के निर्माण पर 339 करोड़ से अधिक रूपए की लागत आई है। यहाँ यात्रियों को मॉल व मल्टीप्लेक्स की सुविधा मिलेगी। इससे बस पड़ाव में आने वाले यात्रियों को खरीदारी करने के लिए शहर में जाने की जरूरत नहीं होगी। इसके अलावा बस मिलने में देरी होने पर उनके मनोरंजन के भी साधन मौजूद रहेंगे। साथ ही, होटल, कैफेटेरिया, रेस्ट हाउस, रेस्टोरेंट व फूड कोर्ट की भी सुविधा जल्द ही मिलेगी।

अजय झा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here