बिहटा की दबंग महिला ने पटना के एक मुस्लिम परिवार को किया बेघर, पीड़ित महिला ने एसपी से लगायी गुहार

923
0
SHARE

पटना : पटना में जमीन कब्जाने में भू-माफिया सक्रिय हैं। वहीं पुलिस भू-माफियाओं पर अंकुश लगाने में पूरी से निष्क्रिय साबित हो रही है। ताजा मामला राजधानी पटना से सटे बिहटा प्रखंड का है। लेकिन इस मामले में एक महिला की दबंगई की बातें सामने आयी है, जो अपने गुर्गों के बल पर एक मुस्लिम महिला की जमीन कब्जाने की कोशिश कर रही है। इस बाबत पीड़ित महिला ने बिहटा थाने में शिकायत भी दर्ज करायी है, लेकिन पुलिस अभी तक किसी प्रकार की कार्रवाई उक्त असामाजिक तत्वों के विरूद्ध नहीं की है। इस बाबत पीड़ित महिला ने एसपी व सीओ दानापुर से न्याय की गुहार लगायी है।
बिहटा पुलिस के कार्यशैली पर सवाल –
सहनाज खातून, पति शमीम कुरैशी राजधानी पटना के शास्त्रीनगर थाना अंतर्गत राजा बाजार के समनपुरा स्थित मदरसा गली में रहती हैं। उन्होंने बिहटा थानाध्यक्ष को बीते 24 अप्रैल को दिए अपने आवेदन में कहा है कि मैंने दिनांक 16 दिसंबर 2013 को निबंधित केवाला नं. 11412 द्वारा मेरे नाम से मौजा दौलतपुर सिमरी में तौजी नं. 3410, खाता नं. 560 एवं 575, सर्वे प्लॉट नं. 1508 एवं 1259 कुल 12 डिसमील जमीन खरीदी, जो उसी वक्त से मेरे कब्जा में रहा है। 24 मार्च को जब मैं पटना से अपनी जमीन का मुआयना करने उक्त गांव में पहुंची तो देखा कि मेरी उक्त वर्णित प्लॉट पर सविता देवी, पति स्व. पशुपति नाथ विश्वकर्मा, सरदार जी पिता स्व. कमल सिंह और राम निवास पिता स्व. राम रतन सिंह के अलावा 5-6 अन्य अज्ञात लोग अवैध निर्माण कार्य करा रहे थे। जब मैंने विरोध किया तो उन लोगों ने धमकी दिया कि 10 लाख रूपये दो तो जमीन छोड़ेंगे, जो कि जमीन की खरीदगी कीमत है। वे लोग यहां तक धमकी दिये कि अगर इधर फिर कभी दिखेगी तो जान से मार देंगे। पीड़ित महिला ने थानाध्यक्ष से इस बाबत कार्रवाई करते हुए न्याय की गुहार लगायी, लेकिन अब तक उन असामाजिक लोगों के विरूद्ध पुलिस द्वारा किसी तरह की कार्रवाई न होने से कानून पर से विश्वास उठता जा रहा है।
एसपी से लगायी गुहार –
सहनाज खातून ने बताया कि इसके बाद अवैध निर्माण पर रोक लगाने तथा मारपीट व जान मारने की धमकी के संबंध में एसपी, दानापुर को भी आवेदन देकर न्याय दिलाने की गुहार लगायी। उन्होंने आवेदन में कहा कि बिहटा थाना जाकर एसएचओ को रजिस्टर्ड डीड और अन्य दस्तावेज दिया। एसएचओ, बिहटा ने नियम के अनुरूप सीओ से मिलने के लिए 27 मार्च को दोनों पक्षों को बुलाया, लेकिन दूसरी पार्टी नहीं आयी। फिर 3 अप्रैल को बुलाया गया, उस दिन भी दूसरी पार्टी नहीं आयी। बावजूद इसके दूसरे पक्ष द्वारा प्लॉट पर निर्माण कार्य कराया जा रहा था, जिस पर पीड़ित महिला के बेटे ने आपत्ति जतायी तो हथियारों से लैसे रहे श्रवण विश्वकर्मा, सविता देवी, रामनिवास, सरदार सिंह, इंद्रदेव विश्वकर्मा समेत अन्य 10-15 अज्ञात लोग, जो सभी सिमरी दौलतपुर गांव के निवासी हैं ने बेटा, उसका दोस्त, बहु और बेटी के साथ मारपीट करने लगे, साथ ही बेटी के गले से सोने का चेन छिन लिया। उन लोगों ने सांप्रदायिक बातें करते हुए धमकी दी कि पूरे परिवार को जान से मार देंगे। यहीं नहीं उन लोगों ने बीच बचाव करने गए जवाहर विश्वकर्मा (मुखिया), सागर कुमार उर्फ निप्पू पर ही उल्टा केस बिहटा थाना में कर दिया है, जिसका केस नं. 288/21 है। यहां तक की मेरे पति शमीम कुरैशी को भी नामजद किया गया है, जो कि बिस्तर से बाहर भी नहीं आते हैं।
बहरहाल, पीड़ित महिला ने दानापुर एसपी से गुहार लगायी है कि उपर्युक्त मामले की जांच करते हुए नामित अभियुक्तों तथा अन्य के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जाए। अब देखना है कि पुलिस पीड़ित महिला को न्याय दिलाने में सक्षम होती है या फिर इसी तरह दबंगों का खेल चलता रहता है।

विवेक कुमार यादव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here