कोरोना घोटाले में संलिप्त लोगों पर देशद्रोह का मुक़दमा दर्ज हो – डॉ शशिकांत

894
0
SHARE

पटना : आम आदमी पार्टी,बिहार के मुख्यप्रवक्ता डॉ शशिकांत ने बिहार में कोरोना बीमारी के नाम पर हुए फर्जीबाड़ा को बिहार के लिए एक काला धब्बा बताया। उन्होंने कहा कि एक तरफ देश और दुनिया के लोग इस बीमारी से सहमे हुए हैं तो दूसरी तरफ बिहार सरकार के पदाधिकारी व कर्मचारी जनता को लूटने में लगे हैं। उंन्होने कहा कि बिहार में घोटालों की गंगा बह रही है और बिहार के मुख्यमंत्री घोटालों के बादशाह बन कर बैठे हैं।उन्होंने बिहार सरकार एवं केंद्र सरकार से मांग की है कि जो लोग भी इस फर्जीबाड़ा में संलिप्त हैं, उसपर देशद्रोह का मुक़दमा चले। साथ ही साथ डॉ शशिकांत ने कहा कि सरकार ने कुछ पदाधिकारी व कर्मचारी को निलंबित करने का आदेश दिया है वो सही नहीं है। उसे तत्काल नौकरी से बर्ख़ास्त की जाय ताकि भ्रष्ट अधिकारियों व कर्मचारियों को सबक मिल सके और स्वास्थ्य विभाग की पवित्रता बनी रहे।

डॉ शशिकांत ने एक अंग्रेज़ी अखबार “दि इंडियन एक्सप्रेस”में छपी विस्तृत रिपोर्ट का ज़िक्र करते हुए कहा कि इस रिपोर्ट से तो यही लगता है कि कोरोना बीमारी कम लेकिन घोटाला ज़्यादा हुआ है। उन्होंने आगे कहा कि यह बिहार का नहीं बल्कि देश का सबसे बड़ा घोटाला साबित हो सकता है। इसके लिए उन्होंने देश के प्रधानमंत्री से गुहार लगाई है कि बिहार में कोरोना घोटाला की जाँच एक स्वतंत्र जाँच एजेंसी का गठन कर कराई जाए। उन्होंने यह भी कहा कि कोरोना से ग्रसित रोगियों का नाम,पता व मोबाईल नम्बर सार्वजनिक कराई जाए ताकि आम जनता को असलियत पता चल सके।
उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री को सीधे तौर पर जिम्मेदार बताते हुए कहा कि मुख्यमंत्री को अपनी नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए अपने पद से तुरंत इस्तीफा दे देना चाहिए। कोरोना काल में वितरित किए गए सहायता राशि पर भी उन्होंने सवाल उठाया है । उंन्होने आशंका ज़ाहिर की है कि मात्र 10% राशि ही आम आवाम तक पहुँच पाई और 90%राशि तो धरातल पर पहुंच हीं नहीं पाई ।

विवेक कुमार की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here