ओडिशा में पेट्रोल-डीजल को लेकर कांग्रेस द्वारा बंद का दिखा असर, नहीं खुले शिक्षण संस्थान

2294
0
SHARE

ओडिशा में पेट्रोल और डीजल की कीमत में वृद्धि, दुष्कर्म मामलों में बढ़ोतरी, बच्चों की गुमशुदगी सहित कई अन्य मुद्दों के खिलाफ कांग्रेस द्वारा बुलाये गए छह घंटे बंद की वजह से राज्य भर में जनजीवन पूरी तरह से प्रभावित रहा। सुबह सात बजे से बंद की वजह से शैक्षणिक संस्थान बंद रहे और ट्रेनों का परिचालन प्रभावित हुआ तथा सड़कों से वाहन नदारद रहे। इस बंद का असर राजधानी भुवनेश्वर, कटक, राउरकेला, सम्बलपुर, ब्रह्मपुर सहित पुरे प्रदेश में देखने को मिला। गृह विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक किसी भी जिले से अप्रिय घटना की खबर नहीं है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने राजधानी भुवनेश्वर समेत राज्य के विभिन्न हिस्सों में राष्ट्रीय राजमार्ग को बंद कर दिया जिससे आवागमन बाधित रहा। कांग्रेस विधायक सुरेश रौत्रे ने भुवनेश्वर रेलवे स्टेशन पर ‘रेल रोको’ धरने का नेतृत्व किया तो सूबे के सभी जिलों में अलग – अलग नेताओं ने राज्यव्यापी बंद की कमान संभाली। इस दौरान सरकारी वाहनों की अनुपलब्धता की वजह से हवाई और बस यात्रियों को भी अपने गंतव्य स्थान पर पहुंचने में काफी परेशानी हुई। किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए भुवनेश्वर में पुलिस बल की 25 कंपनी तैनाती की गई थी।

ओडिशा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष निरंजन पटनायक ने लोगों के समर्थन की वजह से बंद को पूरी तरह से सफल बताया। उन्होंने कहा कि बंद से एम्बुलेंस, दुग्ध वाहन, मीडियाकर्मियों के वाहन, परीक्षार्थियों और आपात सेवाओं को छूट दी गई थी। उन्होंने बताया कि पेट्रोलियम उत्पादों पर कर घटाकर पेट्रोल और डीजल की कीमतों को कम करने के लिए राज्य सरकार और केंद्र सरकार पर दबाव बनाने के लिए बंद का आह्वान किया गया गया था।सूबे के तमाम कांग्रेसी नेताओं के मुताबिक, पेट्रोल-डीजल दर वृद्धि के चलते आम लोगों को कई दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। पेट्रोल और डीजल की दर लीटर के हिसाब से इस बीच करीब 90 रूपए तक पहुंच चुकी है। पेट्रोल और डीजल का दाम बढ़ने हेतु महंगाई की मार झेल रहे आम जनता। राज्य सरकार को 10 रूपए की टैक्स पेट्रोल और डीजल पर से घटाने के लिए मांग की गई थी, लेकिन उसे नजरअंदाज कर दिया गया है।


वहीं राज्य में सत्तारूढ़ बीजेडी ने इस बंद से खुद को अलग रखा। पार्टी ने इस बंद को न तो को अपना समर्थन दिया और न ही बंद का विरोध किया। लेकिन बीजेपी ने बंद की वजह से लोगों को हुई दिक्कतों के लिए कांग्रेस की तीखी आलोचना की। बता दें की एक लीटर पेट्रोल की कीमत भुवनेश्वर में 89.69 रुपये और एक लीटर डीजल की कीमत 86.47 रुपये है।

ओडिशा से सुजाता झा की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here