बिहार में कोरोना घोटाले की जांच हो और प्रत्यय अमृत को बर्खास्त करे बिहार सरकार : राघवेन्द्र कुशवाहा

518
0
SHARE

पटना : कोरोना नियंत्रण के नाम पर आम जनता की गाढ़ी कमाई से अर्जित सरकारी धन के अरबों रुपया के बंदर-बांट की जांच हेतु जन अधिकार पार्टी कि प्रदेश अध्यक्ष राघवेंद्र सिंह कुशवाहा ने भारत के नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (सीएजी) को पत्र लिखा है एवं बिहार सरकार से स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत को अविलंब बर्खास्त करते हुए प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) से इनकी तथा परिजनों की चल और अचल संपत्ति की जांच की मांग की है। आज संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि कोविड-19 हेतु मास्क सैनिटाइजर , पी.पी.कीट, जांच किट, इलाज आदि कई मदों में भारी आर्थिक अनियमितता का आरोप लगाया है। काली सूची में दर्ज कंपनियों से घटिया सामग्री को महंगे दाम पर खरीदने का आरोप लगाते हुए कहा की फर्जी मरीज के डाटा पर जांच और इलाज करने के नाम पर अरबों रुपए के घोटाला हुआ है। उन्होंने कहा कि इस मामले को लेकर वे हाईकोर्ट में पी.आई.एल. भी दर्ज कराएंगे।

इस अवसर पर उपस्थित राष्ट्रीय महासचिव सह प्रवक्ता प्रेमचंद सिंह एवं राजेश रंजन ‘पप्पू’ ने कहा कि संयुक्त किसान संघर्ष मोर्चा के आह्वान पर आगामी 14 फरवरी को पुलवामा में सैनिको तथा किसान आंदोलन में शहीदों की श्रद्धांजलि हेतु कैंडल मार्च निकाला जाएगा। साथ ही आगामी 18 फरवरी 2021 को रेल का चक्का जाम किया जाएगा। यह दोनों कार्यक्रम बिहार के सभी जिला में हमारी पार्टी करेगी। इस अवसर पर पार्टी के राष्ट्रीय सचिव हरेराम महतो, प्रदेश सचिव अभिजीत सिंह, वरुण सिंह, पटना पूर्वी जिलाध्यक्ष सचिदानंद यादव आदि उपस्थित थे।

विवेक कुमार यादव की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here