नीतीश कैबिनेट का विस्तार: बिहार के नए मंत्रियों को मिला विभाग

1181
0
SHARE

पटना : बिहार में नई सरकार गठन के लगभग दो महीने बीतने के बाद मंगलवार को पहला मंत्रिमंडल विस्तार किया गया। इसमें भाजपा कोटे से नौ और जदयू कोटे से आठ नेताओं ने मंत्री पद की शपथ ली। नीतीश मंत्रिमंडल के इस विस्तार में भाजपा से सैयद शाहनवाज हुसैन, प्रमोद कुमार, सम्राट चौधरी, नीरज बबलू, सुभाष सिंह, नितिन नवीन, नारायण प्रसाद, आलोक रंजन झा और जनक राम तथा जदयू से श्रवण कुमार, मदन सहनी, संजय झा, लेसी सिंह, सुमित कुमार सिंह, सुनील कुमार, जयंत राज और जमा खान ने आज मंत्री के तौर पर शपथ ली।

शाहनवाज हुसैन को मंत्री बनाने के बाद अब उन्हें उद्योग विभाग की जिम्मेदारी सौंपी गई है। संजय झा को जल संसाधन और सूचना-जनसंपर्क तो वहीं सम्राट चौधरी को पंचायती राज की जिम्मेदारी सौंपी गई है। श्रवण कुमार एकबार फिर ग्रामीण विकास विभाग का काम संभालेंगे। वहीं मदन सहनी को समाज कल्याण विभाग की जिम्मेदारी दी गई, जबकि प्रमोद कुमार को गन्ना विभाग व विधि मंत्रालय, संजय कुमार झा को जल संसाधन विभाग व सूचना एवं जनसंपर्क विभाग, लेशी सिंह को खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग और सम्राट चौधरी को पंचायती राज का जिम्मा दिया गया है।

नीरज कुमार बबलू को पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन, सुबास सिंह को सहकारिता और नितिन नवीन को पथ निर्माण विभाग जैसे अहम विभाग की जिम्मेदारी सौंपी गई है। इसी तरह पुलिस अधिकारी रहे सुनील कुमार को मद्य निषेध, उत्पाद एवं निबंधन, सुमित कुमार सिंह को विज्ञान एवं प्रावैधिकी, नारायण प्रसाद को पर्यटन, जयंत राज को ग्रामीण कार्य, आलोक रंजन को कला, संस्कृति और युवा मंत्रालय, जमां खान को अल्पसंख्यक कल्याण और जनक राम को खान एवं भूतत्व मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई है।

वहीं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि जब भी मंत्रिपरिषद का गठन होता है तो हर इलाके और समाज के हर तबके के प्रतिनिधित्व का ध्यान रखा जाता है। हमारी कोशिश होती है कि लगभग सभी क्षेत्र के लोगों का प्रतिनिधित्व हो। मंत्रिमंडल में मंत्रियों की संख्या सीमित होती है। हमारा प्रयास होता है कि मंत्रिमंडल में ब्रॉडर रुप में सभी इलाके के लोगों की भूमिका रहे।

बता दें कि पिछले साल संपन्न बिहार विधानसभा चुनाव के बाद 16 नवंबर को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सहित कुल 15 मंत्रियों ने शपथ ली थी जिनमें भाजपा से तारकिशोर प्रसाद एवं रेणु देवी बतौर उप मुख्यमंत्री मंत्रिमंडल में शामिल हुए थे जबकि 12 अन्य मंत्रियों में जदयू से विजय कुमार चौधरी, बिजेन्द्र प्रसाद यादव, अशोक चौधरी, मेवालाल चौधरी एवं शीला कुमारी तथा भाजपा से मंगल पाण्डेय, अमरेन्द्र प्रताप सिंह, रामप्रीत पासवान, जिवेश कुमार एवं राम सूरत कुमार, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा से संतोष कुमार सुमन तथा विकासशील इंसान पार्टी के प्रमुख मुकेश सहनी शामिल थे लेकिन बाद में भ्रष्टाचार का आरोप लगने पर मेवालाल ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था।

अजय झा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here