नहीं रहे केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान, राजनीतिक जगत में शोक की लहर

1643
0
SHARE

लोक जनशक्ति पार्टी के संस्‍थापक रामविलास पासवान का दिल्ली के एक अस्पताल में इलाज के दौरान निधन हो गया। केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान ने 74 साल की उम्र में अंतिम सांस ली। बेटे चिराग पासवान ने ये जानकारी खुद ट्वीट कर दी है। चिराग ने लिखा, ‘पापा… अब आप इस दुनिया में नहीं हैं, लेकिन मुझे पता है आप जहां भी हैं हमेशा मेरे साथ हैं। Miss you Papa…’

राम विलास पासवान बीते कुछ दिनों से बीमार थे और दिल्ली के एस्कॉर्ट हॉस्पिटल में भर्ती थे। लोक जनशक्ति पार्टी के 74 वर्षीय संरक्षक पासवान का कुछ दिन पहले एक अस्पताल में हृदय का ऑपरेशन हुआ था। वह पांच दशक से अधिक समय से सक्रिय राजनीति में थे और देश के जाने-माने दलित नेताओं में से एक थे। पासवान उपभोक्ता, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मामलों के मंत्री थे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रामविलास पासवान के निधन पर दुख जताया है। उन्होंने अच्छा दोस्त बताते हुए कहा कि मेरा नीजि नुकसान हुआ है।

केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान के निधन पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शोक संवेदना व्यक्त की है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अपने शोक संदेश में कहा, “केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन से देश ने एक दूरदर्शी नेता खो दिया है। उनकी गणना सर्वाधिक सक्रिय तथा सबसे लंबे समय तक जनसेवा करने वाले सांसदों में की जाती है। वे वंचित वर्गों की आवाज मुखर करने वाले तथा हाशिए के लोगों के लिए सतत संघर्षरत रहने वाले जनसेवक थे।”

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट किया है। राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में लिखा है कि ‘रामविलास पासवान जी के असमय निधन का समाचार दुखद है। ग़रीब-दलित वर्ग ने आज अपनी एक बुलंद राजनैतिक आवाज़ खो दी। उनके परिवारजनों को मेरी संवेदनाएँ।’

लालू प्रसाद यादव ने अपने ट्वीट में लिखा, रामविलास भाई के असामयिक निधन का दुःखद समाचार सुन अति मर्माहत हूं। विगत 45 वर्षों का अटूट रिश्ता और उनके संग लड़ी तमाम सामाजिक, राजनीतिक लड़ाइयां आंखों में तैर रही है। आप जल्दी चले गए। इससे ज़्यादा कुछ कहने की स्थिति में नहीं हूं।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने ट्वीट में लिखा, केंद्रीय मंत्री एवं लोकप्रिय राजनेता राम विलास पासवान के निधन से मुझे व्यक्तिगत तौर पर दुःख पहुंचा है। उनका निधन भारतीय राजनीति के लिए अपूरणीय क्षति है. ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here