जेडीयू वर्चुअल रैली ‘निश्चय संवाद’ के जरिये नीतीश कुमार ने चुनावी प्रचार का किया आगाज, लोगों को अपनी उपलब्धियां गिनाई और लालू -राबड़ी शासन की याद दिलाई

4370
0
SHARE

बिहार में सत्तारूढ़ जेडीयू आज पहली बार अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार के माध्यम से वर्चुअल रैली के साथ चुनावी प्रचार का आगाज किया। लालू और राबड़ी पर निशाना साधते हुए नीतीश ने कहा कि हमसे पहले जो लोग सत्ता में थे उन्होंने क्या किया? सीएम ने कहा, 15 साल पति-पत्नी का राज था। कानून-व्यवस्था की क्या स्थिति थी? सामूहिक नरसंहार होता था। हमने कानून का राज कायम किया। क्राइम-करप्शन और कम्युनिज्म को बर्दाश्त नहीं करेंगे। कोई गवाही देने के लिए निकल पाता था क्या? हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश से मिलकर जो चर्चा हुई, कितना तेजी से ट्रायल चला दोषियों पर। लोगों का मनोबल ऊंचा हुआ। शाम होने के पहले लोग घरों में चले जाते थे। कुछ चंद लोग कार के बाहर राइफल और बंदूक दिखाते हुए चलते थे। पुरानी तस्वीर और आज की तस्वीर देखिए। जनता ने हमें काम करने का मौका दिया तो कानून-व्यवस्था कि स्थिति बेहतर हुई। क्राइम जो करते थे उनकी गिरफ्तारी होने लगी और ट्रायल होने लगा। सांप्रदायिक सद्भाव का माहौल बनाया। अपराध के मामले में हर साल देश का आंकड़ा प्रकाशित होता है। 2018 के डाटा के अनुसार बिहार का स्थान 23वां है। कुछ लोग तो गड़बड़ करते ही रहते हैं। हमने जनता दरबार लगाया। आकलन में पाया गया कि हत्या के अधिकतर मामले में कारण जमीन या फिर संपत्ति विवाद है। 60 प्रतिशत घटना इसके चलते होता है। हमने इसके खिलाफ एक्शन लिया। महिला अपराध में बिहार का स्थान 29वां स्थान है। देश में अपहरण के मामले में बिहार का स्थान 23वां है। लूट में 19वां, डकैती में 16वां और हत्या में 11वां है।

सीएम ने सरकार की उपलब्धियों को गिनाया
सीएम ने कहा, ‘हम रोजगार सृजन भी कर रहे हैं। बोलने वाले पता नहीं कुछ भी बोल रहे हैं, उन्हें पता भी नहीं कि क्या काम चल रहा है। राज्य सरकार की तरफ से 5,50,246 योजनाओं में 14 लाख से ज्यादा रोजगार का सृजन किया गया है। औसतन प्रतिदिन लगभग दस लाख लोगों को काम मिल रहा है। हम आपदा पीड़ितों की पूरी मदद करते हैं। बिहार में हर साल बाढ़ आती है। हम प्रकार से लोगों के लिए काम करते हैं। अगर सड़कें टूटती हैं तो उसे भी हम बनाते हैं। हम फसल की क्षति का आकलन करवाकर उसका लाभ देते हैं। हम फसल सहायता योजना के तहत मदद करते हैं। बाढ़ से जो पीड़ित लोग हैं उसका हम प्रबंधन करते है। हमने पहले ही कह दिया था कि सरकार के खजाने पर पहला हक आपदा पीड़ित लोगों का है। ये 2007 से चल रहा है। नीतीश कुमार ने कहा कि केंद्र की योजना से अलग राज्य सरकार अपने खजाने से मिड डे मील की राशि लाभार्थियों के खाते में डाल रही है। हम लोगों को आश्वस्त करना चाहते हैं कि जो भी जरूरी काम है, जब तक आपने काम करने का मौका दिया है, तब तक हम काम करते रहेंगे।’ उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने शिक्षकों को ईपीएफ का लाभ दिया, अप्रैल 2021 से 15 फीसदी वेतन बढ़ाएंगे। छात्रों को पढ़ने के लिए स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड की योजना शुरू की। अगर बच्चों के पास पैसा वापस करने की क्षमता नहीं होगी, तो माफ कर देंगे। अब तक एक लाख से ज्यादा छात्रों ने स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड का फायदा लिया। नीतीश कुमार बोले- आज घर-घर बिजली पहुंच गई है। अब लोगों को लालटेन की कोई जरूरत नहीं है। नई पीढ़ी को बताइए, पुरानी चीजों को नहीं जानेगा तो गड़बड़ लोगों के चक्कर में फंस जाएगा। आज बिहार में 18 मेगा पुल बनवाए हैं। केंद्र सरकार की मदद से कई NH बनाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा – हमारे कार्यकाल में बिहार में 3 मेडिकल कॉलेज बनाये गए, 8 नए बन रहे हैं। केंद्र और राज्य सरकार की मदद से ये मेडिकल कॉलेज बन रहे हैं।

कोरोना को लेकर सीएम ने कहा –
उन्होंने कहा कि इलाज से लेकर मौत होने की परिस्थिति में 4 लाख रुपये का मुआवजा देना तय किया गया है। राज्य भर के प्रवासी बिहारियों को 14 दिन क्वारंटीन सेंटर में रखा गया। 15 लाख से ज्यादा लोग वापस बिहार आए और क्वारंटीन सेंटर पर एक व्यक्ति पर 14 दिन में 5,300 रुपये खर्च किए गए। हमने लोगों की इस तरह से सेवा की। केंद्र और हमने राशन के मामले में भी मदद की। हम प्रचार नहीं सेवा करते हैं। कोरोना परीक्षण को लेकर नीतीश ने इशारों-इशारों में तेजस्वी यादव पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि बोलने वाले तो कुछ भी बोलते रहते हैं, उन्हें तथ्यों की जानकारी तो होती नहीं है। आज बिहार में प्रतिदिन डेढ़ लाख से ज्यादा लोगों की जांच हो रही है। दस लाख की जनसंख्या पर 32,233 लोगों की जांच की गई। आरटी-पीसीआर जांच की क्षमता 11,350 है लेकिन हम इसे बढ़ाकर 20 हजार करना चाहते हैं। भारत सरकार से हमें 10 हजार आरटी-पीसीआर जांच मशीन मिलने वाली है। केंद्र हमें 8,800 अमेरिकी मशीन कोबास देने वाला है।नीतीश कुमार ने जेडीयू की रैली में एक बार फिर दोहराया, जब तक हम हैं शराबबंदी लागू रहेगा। उन्होंने कहा किबहुत लोगों को राजनीति में धन से मतलब है लेकिन हमलोगों को सिद्धांत से मतलब है।

अजय झा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here