मांझी हैं मझधार में, सोनिया गांधी से दिल्ली में आज होगी मुलाकात

3708
0
SHARE

बिहार विधानसभा चुनाव से पहले महागठबंधन की गांठ ढीली पड़ने लगी है। पूर्व सीएम जीतन राम मांझी के जदयू में वापस जाने की कयास के बाद महागठबंधन में बेचैनी बढ़ गई है। महागठबंधन में हो रही खिंचा तानी को देखते हुए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मोर्चा संभालते हुए जीतन राम मांझी को दिल्ली बुलाया है। जीतन राम मांझी भी अपनी बात रखने के लिए मंगलवार को 10 बजे दिल्ली के लिए रवाना होंगे। मंगलवार देर शाम जीतन राम मांझी की सोनिया गांधी और राहुल गांधी से मुलाकात हो सकती है। महागठबंधन के भीतर कोऑर्डिनेशन कमिटी नहीं बनाये जाने से नाराज मांझी ने बिना आरजेडी का गठबंधन बनाने की तैयारी में थे।

वहीं आरजेडी ने मांझी के कोऑर्डिनेशन कमिटी की मांग को पूरी तरह से नकार दिया है। जीतन राम मांझी ने ये एलान किया था कि वे 26 जून को बड़ा फैसला लेंगे। महज एक दिन के भीतर ही उनका ये मंसूबा फेल हो गया। महागठबंधन के अन्य घटक दलों ने स्पष्ट कर दिया कि इसबार के विधानसभा चुनाव में आरजेडी का दूसरा कोई विकल्प नहीं है । महागठबंधन के सहयोगियों ने यहां तक कह दिया कि बिहार में एनडीए के खिलाफ महागठबंधन को चुनाव जीतना है तो हर हाल में आरजेडी के साथ ही रहना होगा। कांग्रेस, वीआईपी और वामदल ने भी साफ कह दिया कि बिहार में अभी तीसरे मोर्चे की कोई गुंजाइश नहीं है। मतलब साफ है जीतन राम मांझी जिस बुनियाद पर आरजेडी के खिलाफ ताल ठोक रहे थे, उन्हीं सहयोगियों ने मांझी को मंझधार में छोड़ दिया है। बहरहाल आनेवाले दिनों में ही ये साफ हो पायेगा कि मांझी की नैया के खेबैया एनडीए होगा या महागठबंधन।

अजय झा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here