सीएम नीतीश कुमार ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के द्वारा 8 जिलों के 16 ब्लॉक क्वारंटाइन केन्द्रों का लिया जायजा, दिए कई निर्देश

2745
0
SHARE

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर सचिव सूचना एवं जन-सम्पर्क अनुपम कुमार, सचिव स्वास्थ्य लोकेश कुमार सिंह, अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस मुख्यालय जितेन्द्र कुमार एवं अपर सचिव आपदा प्रबंधन रामचन्द्र डू ने कोरोना संक्रमण की रोकथाम को लेकर सरकार द्वारा किये जा रहे कार्यों के संबंध में अद्यतन जानकारी दी। सूचना एवं जन-संपर्क विभाग के सचिवअनुपम कुमार ने बताया कि कोरोना संक्रमण की अद्यतन स्थिति को लेकर माननीय मुख्यमंत्री जी के स्तर पर लगातार गहन समीक्षा की जा रही है और लोगों को सहायता प्रदान करने के लिये सभी आवश्यक कदम उठाये जा रहे हैं। इसी क्रम में आज तीसरे दिन चैथे और अंतिम चरण में वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से माननीय मुख्यमंत्री ने 8 जिलों के 16 ब्लॉक क्वारंटाइन केन्द्रों का अवलोकन एवं निरीक्षण कर वहां आवासित प्रवासियों एवं तैनात पदाधिकारियों से संवाद किया। संवाद के क्रम में प्रवासियों ने मुख्यमंत्री को बताया कि हमलोग यही रहना चाहते हैं, हमारी इच्छा है कि हमें यही रोजगार मिले। माननीय मुख्यमंत्री ने सभी विभागों को निर्देशित किया कि रोजगार सृजन के लिए तत्काल ठोस कार्ययोजना बनाकर शीघ्र से शीघ्र श्रमिकों की स्किल के मुताबिक उन्हें रोजगार देने की व्यवस्था की जाय। इसके अलावा क्लस्टर्स या अन्य जगहों पर यदि उद्योग लगाये जा सकते हैं तो उसके लिए भी प्रयास किया जाय। विशेष रूप से यहाँ पर लेदर उद्योग, कपड़ा उद्योग, फर्नीचर, साइकिल एवं भागलपुर का सिल्क जैसे अन्य कई चीजों के उत्पादन की बिहार में असीम संभावनाएं हैं। हम उपभोक्ता राज्य हैं। हमारे पास बहुत बड़ा बाजार है। बाजार की जरूरतों के अनुरूप उद्योग लगाने के लिए लोगों को प्रेरित किया जाय। प्रतिवर्ष बड़े पैमाने पर स्कूली बच्चों को पोशाक एवं साइकिल दी जाती है। इस प्रकार सभी ऑप्शन्स को एक्सप्लोर करके श्रमिकों को उनकी दक्षता के मुताबिक रोजगार देने की व्यवस्था की जाय। माननीय मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया है कि अनस्किल्ड श्रमिकों का जल्द से जल्द जॉब कार्ड बनाकर उनका बैंक एकाउंट खुलवाया जाय। व्यवसायी वर्गों से बातचीत करके उन्हें भी उद्योग इकाइयाँ लगाने हेतु विचार करने को कहा गया है। इसके लिए यदि इंडस्ट्रियल पॉलिसी में शॉर्ट टर्म, मिड टर्म या कोई भी आवश्यक संशोधन करने की जरूरत पड़ेगी, उसे सरकार करने के लिए तैयार है। बिहार के व्यवसायी वर्ग नये उद्योग लगाये, सरकार हरसंभव मदद करने को तैयार है।

अनुपम कुमार ने बताया कि वर्तमान में आपदा राहत केन्द्रों की संख्या 133 है जिसमें लगभग 45,000 लोग इसका लाभ ले रहे हैं। ब्लॉक क्वारंटाइन सेंटर्स की संख्या बढ़कर 15,036 हो गयी है जहाँ 10 लाख 56 हजार 852 प्रवासी लोग आवासित हैं। प्रवासी श्रमिकों के लगातार कॉल/मैसेजज आ रहे हैं, इसके लिए संबंधित राज्य सरकार और रेल मंत्रालय से समन्वय करके जो भी इनकी समस्या है उसको दूर करने का प्रयास किया जा रहा है। रोजगार सृजन एक बहुत ही महत्वपूर्ण विषय के रूप में हमलोगों के सामने है। इसके लिए सभी संबंधित विभाग लगातार प्रयास कर रहे हैं। लॉकडाउन पीरियड के दौरान 4 लाख 22 हजार से अधिक योजनाओं में अब तक 3 करोड़ 19 लाख से अधिक मानव दिवसों का सृजन हो चुका है। अब तक 1 करोड़ 36 लाख राशन कार्डधारी परिवारों को 1,000 रूपये की सहायता दे दी गयी है और राशन कार्ड विहीन परिवारों के लिए 9 लाख 82 हजार नये राशन कार्ड बना दिए गये हैं। उन्होंने बताया कि कल तक 11 लाख 72 हजार 194 प्रवासी मजदूरों को लेकर 805 ट्रेनें बिहार पहुँच चुकी हैं। अगले तीन-चार दिनों के लिए 476 ट्रेनें शिड्यूल्ड हैं जिनसे 7 लाख 85 हजार 400 लोगों के आने की योजना है। इस प्रकार अब तक प्लानिंग हो चुकी कुल 1281 ट्रेनों के माध्यम से 19 लाख 57 हजार 594 लोग बिहार पहुंचेंगे। यह प्रक्रिया अभी भी जारी है। आज कुल 105 ट्रेनें आ रही हैं जिनमे 1 लाख 73 हजार 250 लोग ट्रेवल कर रहे हैं। कल के लिए 118 ट्रेनें शिड्यूल्ड हैं जिनसे 1 लाख 93 हजार 400 लोग ट्रेवल करेंगे। स्वास्थ्य विभाग के सचिव श्री लोकेश कुमार सिंह ने बताया अब तक कुल 63,741 सैम्पल्स की जांच की गयी है जिसमें 2,507 व्यक्तियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। 24 घंटे में 49 लोग स्वस्थ हुए हैं और अब तक कुल 702 लोग स्वस्थ होकर अपने घरों को लौट चुके हैं। बिहार में फिलहाल कोरोना संक्रमण के 1,792 एक्टिव मामले हैं। उन्होंने बताया कि कल सारण जिले के एक व्यक्ति की मौत हो गई जिनका इलाज पी0एम0सी0एच0 में चल रहा था। 3 मई के बाद बिहार आने वाले 1,599 प्रवासियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है जिसमें नई दिल्ली से 392, महाराष्ट्र से 362, गुजरात से 256, हरियाणा से 128 सहित अन्य राज्यों से आने वाले प्रवासी श्रमिक शामिल हैं। उन्होंने बताया कि नई दिल्ली, अहमदाबाद, महाराष्ट्र, सूरत, कोलकाता, एन0सी0आर0, नोएडा से आने वाले प्रवासियों में कोरोना संक्रमण के अधिक मामले मिले हैं। अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस मुख्यालय श्री जितेन्द्र कुमार ने बताया कि लॉकडाउन का सख्ती से अनुपालन कराया जा रहा है। अब तक कुल 2,198 एफ0आई0आर0 दर्ज की गयी है और 2,360 लोगों की गिरफ्तारियां हुयी हैं। 79,263 वाहन जब्त किये गये हैं। अब तक इससे कुल 18 करोड़ 66 लाख 13 हजार 736 रूपये की राशि जुर्माने के रूप में वसूल की गयी है। पिछले 24 घंटे में अवरोध पैदा करने के कारण 14 एफ0आई0आर0 दर्ज की गयी हैं और 15 लोगों की गिरफ्तारियां हुयी हैं। 934 वाहन जब्त किये गये हैं और 24 लाख 49 हजार 700 रूपये जुर्माने के रूप में वसूल किये गये हैं। कोविड-19 से निपटने के लिये उठाये जा रहे कदमों और लॉकडाउन का पालन करने में अवरोध पैदा करने वालों के खिलाफ सख्ती से कदम उठाये जा रहे हैं।

अजय झा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here