जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा में मुठभेड़ में पांच जवान शहीद, दो आतंकी ढेर

5816
0
SHARE

जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा एनकाउंटर में सुरक्षाबलों ने लश्कर-ए-तैयबा के टॉप कमांडर हैदर को मार गिराया है। आतंकी हैदर पाकिस्तान का रहने वाला है। कल शाम से ही उत्तरी कश्मीर के हंदवाड़ा में एनकाउंटर चल रहा था, अभी सुरक्षाबल सर्च ऑपरेशन चला रहे हैं। इस एनकाउंटर में एक कर्नल, एक मेजर और 2 जवान समेत 5 लोग शहीद हुए हैं। शहीद होने वालों में जम्मू-कश्मीर पुलिस का एक सब इंस्पेक्टर भी शामिल है। दरअसल छंगमुल्ला इलाके में 5 से 6 आतंकियों के छिपे होने की सूचना थी। 24 तारीख को पाक अधिकृत कश्मीर से आतंकियों ने घुसपैठ की थी। जिसके बाद सुरक्षा बलों ने इलाके में तलाशी अभियान चलाया। सेना के एक अधिकारी ने बताया कि खुफिया सूचना के आधार पर कि आतंकवादी कुपवाड़ा जिले के चंजी मोहल्ला, हंदवाड़ा में एक घर में लोगों को बंधक बना रहे हैं, सेना और जेके पुलिस द्वारा एक संयुक्त अभियान शुरू किया गया था। सेना के पांच और जेके पुलिस के एक जवान ने फंसे लोगों को निकालने के लिए उस घर में प्रवेश किया। सेना और पुलिस की टीम ने सफलतापूर्वक लोगों को निकाल भी लिया। हालांकि इस दौरान टीम को आतंकवादियों ने निशाना बनाया। इस मुठभेड़ में दो आतंकवादियों का सफाया कर दिया गया। वहीं टीम के दो सेना अधिकारी, दो सेना के जवान और एक जेके पुलिस के सब इंस्पेक्टर शहीद हो गए। जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने बताया कि इस ऑपरेशन के दौरान सीओ 21-आरआर कर्नल आशुतोष शर्मा, मेजर अनुज सूद, पुलिस सब इंस्पेक्टर शकील काजी, एक लांस नायक और एक राइफलमैन सहित पांच जवान शहीद हो गए हैं। इन आंतकियों के साथ सुरक्षा बलों की ये तीसरी मुठभेड़ है। अभी भी 4 आतंकी फरार है जिसकी तलाश में सर्च ऑपरेशन चल रहा है। पूरे इलाके में मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है। बता दें कि लश्कर-ए-तैयबा के पीआरएफ फ्रंट ने इस हमले की जिम्मेवारी ली है।

कर्नल आशुतोष शर्मा

वहीं पांच जवानों के शहीद होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शोक व्यक्त किया। पीएम मोदी ने ट्वीट किया, ‘हंदवाड़ा में शहीद हुए हमारे साहसी सैनिकों और सुरक्षाकर्मियों को श्रद्धांजलि। उनकी वीरता और बलिदान को कभी भुलाया नहीं जा सकेगा। उन्होंने राष्ट्र के लिए अत्यंत समर्पण के साथ काम किया और हमारे नागरिकों की रक्षा के लिए अथक परिश्रम किया। उनके परिवारों और दोस्तों के प्रति संवेदना।


रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शोक व्यक्त करते हुए इसे ‘बेहद परेशान करने वाला और दर्द भरा’ करार दिया। उन्होंने कहा कि जवानों ने आतंकवादियों के खिलाफ लडाई में साहस की मिसाल पेश की और उनकी बहादुरी और संघर्ष को हमेशा याद किया जाएगा।

अजय झा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here