स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही ने ली मरीज की जान

4467
0
SHARE

अक्सर देखने को मिलता है कि स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के वजह से गरीब व असहाय तबके के लोग इलाज के अभाव में बेमौत मारे जा रहे हैं। ऐसी ही एक घटना मुंगेर जिला के जमालपुर नगर परिषद क्षेत्र के वार्ड संख्या 14 में देखने को मिला है। वार्ड संख्या 14 नयागांव समीर कुमार पिता स्वर्गीय सरजुग मंडल की मृत्यु संध्या लगभग 7:00 बजे हो गई। समीर कुमार काफी दिनों से बीमार चल रहे थे उनका इलाज स्वास्थ्य केंद्र जमालपुर में चल रहा था। वहां से उनको सदर हॉस्पिटल मुंगेर रेफर किया गया मुंगेर से भी उन्हें मायागंज भागलपुर रेफर किया गया। मायागंज हॉस्पिटल से भी उसे पटना रेफर किया गया किंतु एम्बुलेंस वाले ने पटना नहीं ले जाकर वापस समीर कुमार को उसके घर पर लाकर छोड़ दिया। विडंबना देखिए कि गरीब तबके के लोगों को लॉक डाउन के वजह से साधन नहीं रहने की वजह से बीमार समीर कुमार बेमौत मारे गए। मृतक की पत्नी ने स्पष्ट तौर पर कहा कि स्वास्थ्य विभाग में दर-दर की ठोकरें खाने के बावजूद भी मेरे पति का इलाज नहीं हुआ। हर जगह यह कहकर दुत्कार दीया गया कि अभी कोरोना जैसे महामारी का इलाज चल रहा है अभी और किसी पेशेंट को हॉस्पिटल में नहीं रखा जा सकता। इस बात की पुष्टि करते हुए वार्ड संख्या 6 के पूर्व वार्ड पार्षद अमर शक्ति के द्वारा बताया गया की स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के वजह से एक गरीब और लाचार व्यक्ति ने दम तोड़ दिया। इस बात की पुष्टि मृतक के परिवार समाज के गणमान्य पूर्व वार्ड पार्षद अमर शक्ति सहित अन्य ग्रामीणों ने की। इस सुशासन की राज्य में महामारी का बहाना कर अगर इसी प्रकार स्वास्थ्य विभाग के द्वारा मानवता को शर्मसार करते हुए इस तरह का कार्य किया जाता है तो यह सुशासन के मुंह पर बहुत बड़ा तमाचा है। मृतक का परिवार गरीबी में डूबा हुआ है, जिनके खाने पीने के लाले पड़े हैं। मृतक अपने पीछे एक पत्नी व दो पुत्री को छोड़ गए हैं अब देखना यह है कि सरकार उन्हें क्या मदद करती है।

मुंगेर से विवेक कुमार यादव की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here