नहीं थम रहा कोरोना का कहर, भारत में कोरोना मरीज की संख्या 300 के पार

904
0
SHARE

कोरोना वायरस का कहर दुनिया भर में तेजी से बढ़ता जा रहा है।कोरोना वायरस ने अब तक 185 देशों में दस्तक दे दी है। कोरोना से अब तक 11 हजार 417 लोगों की मौत हो चुकी है। दुनिया में अब तक 2 लाख 77 हजार से अधिक लोग कोरोना वायरस से प्रभावित हैं। इटली में कोरोना का तांडव जारी है। शुक्रवार को इटली में कोरोना से 627 लोगों की हुई मौत। इटली में अबतक 4 हजार से अधिक लोगों की कोरोना वायरस से गई जान, करीब 36 हजार लोग कोरोना से हैं प्रभावित। फ्रांस में कोरोना से 24 घंटे में 78 लोगों की मौत। फ्रांस में कोरोना से कुल 450 लोगों की हो चुकी है मौत। कोरोना वायरस को लेकर पूरे देश में हाहाकार मचा हुआ है। कोरोना वायरस की गिरफ्त में अब देश के 20 राज्य आ चुके हैं। अभी तक देशभर में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 301 हो गई है और आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। एहतियात के तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 मार्च को जनता कर्फ्यू का आह्वान किया है, जिसके तहत सभी देशवासियों के घरों के अंदर रहने की अपील की गई है।

कोरोना वायरस से सबसे अधिक प्रभावित देश –

अमेरिका –
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस वायरस की तबाही के लिए चीन की एक गलती को जिम्मेदार माना है। ट्रंप ने कहा कि चीन के द्वारा कोरोना वायरस पर जानकारी छुपाने की कीमत आज पूरी दुनिया चुका रही है। डोनाल्ड ट्रंप ने व्हाइट हाउस में कहा कि ये साफ है कि कोरोना वायरस के लिए चीन ही जिम्मेदार है, अगर चीन इसके बारे में पहले सूचना देता तो इसे एक ही क्षेत्र में रोका जा सकता था। पूरी दुनिया में ऐसी तबाही को रोका जा सकता था। वहीं अमेरिकी उपराष्ट्रपति पेंस का स्टाफर कोरोना से संक्रमित होने वाला व्हाइट हाउस का पहला अफसर बन गया। पेंस की प्रेस सेक्रेटरी केटी मिलर ने संक्रमित होने की जानकारी दी। मिलर ने बताया कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और पेंस के बीच बीते दिनों में कोई संपर्क नहीं हुआ है। व्हाइट हाउस ने किसी भी व्यक्ति की एंट्री के लिए सख्त निर्देश जारी किए हैं।

इस बीच ट्रम्प ने कहा कि अमेरिका में नेशनल लॉकडाउन की फिलहाल जरूरत नहीं है। अमेरिका में मरने वालों की संख्या 275 तक पहुंच चुकी है। वहीं माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स ने कहा है कि बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन दुनियाभर में कोरोनावायरस से निपटने में प्रतिबद्ध है। बिल गेट्स ने वायरस से निपटने के लिए 100 मिलियन डॉलर (751 करोड़ रु.) की मदद देने का ऐलान किया। अपने शहर वॉशिंगटन के लिए 50 करोड़ रु. देने की घोषणा की। गेट्स ने कहा कि उनका फाउंडेशन दुनियाभर में कोरोना की दवा और टीका विकसित करने वालों के साथ मिलकर काम कर रहा है। मौजूदा समय में संक्रमण के ज्यादातर मामले अमीर देशों में हैं। उन्हें इसे रोकने के लिए सही ढंग से काम करना चाहिए।

अजय झा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here