मुंगेर के जमालपुर अंचल से भ्रष्टाचार का मामला आया सामने

2851
0
SHARE

बिहार के मुंगेर जिले जमालपुर अंचल में पदस्थापित राजस्व कर्मचारी रविशंकर सिन्हा पर ग्रामीणों ने भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है।स्थानीय लोगों का कहना है कि रविशंकर सिन्हा दोनों हाथों से लूट खसोट करने में लगे हैं। ऐसा लगता है कि राजस्व कर्मचारी रविशंकर को राजस्व विभाग में राजस्व कर्मचारी का पद ना मिला हो अलाउद्दीन का चिराग मिल गया हो। इस अलाउद्दीन के चिराग से बड़ी जोर शोर से दोनों हाथों से अवैध उगाही करने में रविशंकर सिन्हा लगे हुए हैं साथ ही इनके द्वारा रखे गए दलालों का भी पाव बारह हो रहा है। राजस्व कर्मचारी रविशंकर और उनके द्वारा रखे गए दलाल दोनों मिलकर आम रैयतो का खुलेआम आर्थिक शोषण कर रहे हैं। दाखिल खारिज हो या एलपीसी हो बिना पैसे लिए इनका कलम ही नहीं चलता। इनके द्वारा हल्का राजस्व कचहरी को भ्रष्टाचार का अड्डा बनाया गया है। कुछ दिनों पहले राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के माननीय मंत्री महोदय ने स्पष्ट तौर पर कहा था कि अंचल कार्यालय भ्रष्टाचार का अड्डा है। आज जमालपुर अंचल अंतर्गत यह देखने को भी स्पष्ट रूप से मिल रहा है। संवाद सूत्र का कहना है कि राजस्व कर्मचारी रविशंकर सिन्हा के द्वारा अपने लाभ के पद पर होने के कारण निजी लाभ वश पद का खुल्लम खुल्ला दुरुपयोग कर रहे हैं और आम नागरिकों से अवैध वसूली में इनके द्वारा रखे गए दलाल भी खुलकर इनका साथ देकर राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग और बिहार सरकार के आदेश की धज्जियां उड़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। दाखिल खारिज में अगर पैसा दिया जाता है तो उनका सारा कागजात सही हो जाता है और पैसा नहीं मिलने पर बहुत सारी त्रुटियां इनके द्वारा निकाली जाती है। राजस्व कर्मचारी श्री सिन्हा के पास आम नागरिकों से पैसा उगाही करने का एक से बढ़कर एक मापदंड है। राजस्व कर्मचारी रविशंकर सिन्हा कटिहार जिला के रहने वाले हैं पूर्व में वह संग्रामपुर अंचल में पदस्थापित थे आज की तिथि में जमालपुर अंचल के हल्का नंबर नगर परिषद भाग 2 वगैरह का प्रभार इनको कार्यालय के द्वारा दिया गया है ताकि सुचारू रूप से कार्य का निर्वहन हो सके। बिना पैसा लिए दाखिल खारिज में इनके द्वारा स-समय प्रतिवेदन नहीं किया जाता। संवाद सूत्र के द्वारा यह भी कहा गया कि ऐसे भ्रष्ट राजस्व कर्मचारी के विरुद्ध मैं राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग पटना को भी आवेदन समर्पित करूंगा ताकि विभाग के द्वारा जनहित में स्वक्ष जांच हो सके और ऐसे भ्रष्ट राजस्व कर्मचारी पर विभागीय कार्रवाई करते हुए इन पर प्राथमिकी दर्ज किया हो सके ताकि भविष्य में अन्य कर्मी इस प्रकार क्या घृणित अपराध ना करें।

मुंगेर से विवेक कुमार यादव की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here