बोधगया में दलाई लामा के शिक्षण सत्र में शामिल हुए कई नेता और हॉलीवुड अभिनेता

3665
0
SHARE

बिहार के बोधगया के कालचक्र मैदान में तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा 37 प्रैक्टिसेस ऑफ अ बोधिसत्व पर प्रवचन दिया। जिसमें हॉलीवुड अभिनेता रिचर्ड गेरे सहित निर्वासित तिब्बत सरकार के राष्ट्रपति लोबसांग सांगेय, सिक्किम सरकार के मंत्री नामग्याल, बौद्ध परंपरा के वरीय लामा सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे। इस दौरान दलाई लामा ने कहा कि हमें हमेशा दूसरों के हितों की चिंता करनी चाहिए। इसका उदय मैं यानी स्व के खत्म होने से होगा। मैं यानी आत्मकेंद्रीत विचारों से समस्याओं का जन्म होता है। यह विचार मैं और स्व से आता हैं। उन्होंने कहा कि मैं के बोध से अहम जागता है जिससे राग, द्वेष और ईर्ष्या का जन्म होता है। दलाई लामा ने कहा कि कर्म की अकुशलता की वजह से इस तरह के भाव आते हैं।

प्रवचन के दौरान उन्होंने कर्म और उसके परिणाम की महत्ता पर प्रकाश डाला। उन्हें सुनने के लिए मैदान में 30 हजार श्रद्धालु पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि विज्ञान भी कहता है कि चिंता छोड़ों नहीं तो शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली खराब हो जाएगी। प्रवचन के दौरान दलाई लामा ने चीन से आए श्रद्धालुओं से कहा कि शून्यता का आभास करें। दोस्ती और करुणा को जगाएं। इससे पहले 25 दिसंबर को दलाई लामा ने चीन से कहा था कि गोली की भाषा छोड़े और सच्चाई की दोस्ती का हाथ आगे बढ़ाएं। सच्चाई से ही जीत मिलती है।

अजय झा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here