नागरिकता कानून: पीएम का विरोधियों पर हमला, कहा- गुस्सा है तो मोदी पर निकालो, गरीब की झोपड़ी मत जलाओ

16733
0
SHARE

दिल्ली के रामलीला मैदान में आयोजित भाजपा की धन्यवाद रैली को संबोधित करते हुए
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि विविधता में एकता-भारत की विशेषता है। जीवन से जब अनिश्चितता निकल जाती है, एक बड़ी चिंता हट जाती है तो उसका प्रभाव क्या होता है, ये मैं आज आप सभी के चेहरों पर देख रहा हूं। आपके उत्साह में देख रहा हूं। यह रामलीला मैदान है, ये अनेक अवसरों का साक्षी रहा है। हम सभी को आशीर्वाद देने के लिए देश के कोने-कोने से लोग आए हैं, आप सबका बहुत-बहुत धन्यवाद। पीएम मोदी ने कहा कि जो हिंदुस्तान की मिट्टी के मुसलमान हैं, उनसे नागरिकता कानून और एनआरसी दोनों का ही कोई लेना-देना नहीं है। नागरिकता संशोधन कानून भारत के किसी नागरिक के लिए, चाहे वो हिंदू हो या मुसलमान, के लिए है ही नहीं। ये संसद में बोला गया है। ये कानून का इस देश के अंदर रह रहे 130 करोड़ लोगों से कोई वास्ता नहीं है। पीएम ने कहा आज जो लोग कागज-कागज, सर्टिफिकेट-सर्टिफिकेट के नाम पर मुस्लिमों को भ्रमित कर रहे हैं, उन्हें ये याद रखना चाहिए कि हमने गरीबों की भलाई के लिए, योजनाओं के लाभार्थी चुनते समय कभी कागजों की बंदिशें नहीं लगाईं। मैं जानना चाहता हूं कांग्रेस और उसके साथियों से, उसकी तरह देश को बांटने की राजनीति करने वाले दलों से कि आप क्यों देश की जनता से झूठ बोल रहे हैं, उन्हें भड़का रहे हैं। देशहित में ऐसी राजनीति बंद करिए। नागरिकता कानून के विरोध में पुलिसवालों पर हो रहे हमलों पर पीएम मोदी ने कहा कि पुलिस वालों को अपनी ड्यूटी करते समय हिंसा का शिकार होना पड़ रहा है। जिन पुलिसवालों पर ये लोग पत्थर बरसा रहें हैं, उन्हें जख्मी करके आपको क्या मिलेगा? आजादी के बाद 33 हजार से ज्यादा पुलिसवालों ने, शांति के लिए, आपकी सुरक्षा के लिए शहादत दी है।उन्होंने कहा,मैं इन लोगों को कहना चाहता हूं कि मोदी को देश की जनता ने बैठाया, ये अगर आपको पसंद नहीं है, तो आप मोदी को गाली दो, विरोध करो, मोदी का पुतला जलाओ। लेकिन देश की संपत्ति मत जलाओं, गरीब की रिक्शा मत जलाओं, गरीब की झोपड़ी मत जलाओ।

वहीं पीएम मोदी ने आप सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि आज दिल्ली में जो राज्य सरकार है, वो यहां की सबसे बड़ी समस्या से आंख मूंद कर बैठी है। ये समस्या है पीने के पानी की। इन लोगों के अनुसार पूरी दिल्ली में हर जगह बिसलरी जैसा साफ पानी मिलता है। पूर्वी दिल्ली से सांसद गौतम गंभीर ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि बसों में पैर रखने की जगह नहीं है। साफ हवा में सांस नहीं ले सकते हैं। गंभीर ने पूछा कि क्या हम इस तरह की दिल्ली चाहते हैं। क्या हम इस तरह का मुख्यमंत्री चाहते हैं जो एक रुपये का काम करता है और 100 रुपये का विज्ञापन करता है। उन्होंने कहा कि दिल्ली को एक ऐसी सरकार चाहिए जो सच्चाई से दिल्ली की जनता के लिए काम कर सके। मैं जानता हूं कि आप लोगों का आशीर्वाद भाजपा को मिलेगा और हम दिल्ली में सरकार बनाएंगे।

अजय झा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here