मोदी सरकार की समीक्षा बैठक के बाद मंत्रिमंडल में फेरबदल की संभावना

8536
0
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को सरकार के दूसरे कार्यकाल में अलग-अलग मंत्रालयों के शुरुआती छह महीने के कामकाज की समीक्षा कर रहे हैं। समीक्षा के आधार पर ही मंत्रियों को रैंकिंग दी जाएगी और इसी आधार पर मंत्रिमंडल में फेरबदल होगा। खराब प्रदर्शन करने वाले मंत्री को मंत्रिमंडल से हटाया भी जा सकता है। बैठक में मंत्रालय अपने कामकाज की संक्षिप्त प्रस्तुति देंगे। रिपोर्ट कार्ड में मंत्रियों के शपथ लेने के बाद से अब तक की उपलब्धियों और क्या-क्या जिम्मेदारियां दी गई थी और उनमें क्या-क्या पूरी हुई, इन सब का ब्यौरा अंकित करने को कहा गया है। बैठक में मुख्य रूप से कृषि, ग्रामीण विकास और सामाजिक क्षेत्र पर ध्यान दिया जाएगा। यह बैठक ऐसे समय में हो रही है जब नागरिकता संशोधन कानून और प्रस्तावित एनआरसी को लेकर देश के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन हो रहा है। 2019 लोकसभा चुनाव में भाजपा सरकार बड़े जनादेश के साथ सत्ता में आई और नवंबर में सरकार को छह महीने पूरे हुए हैं। समीक्षा के लिए सभी मंत्रालयों को दस समूहों में बांटा गया है। हर समूह में आठ से दस मंत्रालय हैं। इनमें से पांच समूहों के पिछले छह महीने के कामकाज की समीक्षा की जा रही है। बाकी पांच समूहों की समीक्षा दो सप्ताह बाद होगी। इसमें मंत्रियों को अगले साढ़े चार साल के लिए विजन और लक्ष्य भी तय करने होंगे। इस समीक्षा बैठक का भय मंत्रियों में ही नहीं, उनके विभागों के सचिवों में भी व्याप्त है।साथ ही कुछ नए चेहरों को भी आने वाले समय में कैबिनेट में जगह मिल सकती है।

अजय झा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here