ओडिशा के चांदीपुर में अपना मिसाइल परीक्षण करेगा सिंगापुर

7575
0
SHARE

देश के इतिहास में यह पहली बार होगा जब भारत ओडिशा स्थित अपने चांदीपुर इंटिग्रेटेड टेस्ट रेंज को किसी देश के लिए खोलेगा। दरअसल, सिंगापुर ने भारत से अपील की थी कि छोटा देश होने की वजह से वह मिसाइल परीक्षण नहीं कर सकता, ऐसे में भारत उसे अपने चांदीपुर टेस्ट रेंज का इस्तेमाल करने की सुविधा प्रदान करे।रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सिंगापुर के दौरे पर हैं। भारत और सिंगापुर ने बुधवार को ओडिशा के चांदीपुर परीक्षण केंद्र से स्पाइडर एयर डिफेंस सिस्टम जैसे मिसाइल की लाइव फायरिंग का रास्ता साफ करने की दिशा में ‘लेटर ऑफ इंटेंट’ पर हस्ताक्षर किया। सिंगापुर ने मांग की थी कि वह एक छोटा देश है लिहाजा वह स्पाइडर जैसे मिसाइल सिस्टम को लॉन्च नहीं कर सकता, इसलिए भारत उसे अपने चांदीपुर टेस्ट रेंज का इस्तेमाल करने की सुविधा प्रदान करे। दरअसल, भारत के पास मिसाइलों का परीक्षण करने के लिए जिस तरह का स्पेस उपलब्ध है, वह सिंगापुर जैसे छोटे देशों के पास उपलब्ध नहीं है। सिंगापुर के रक्षा मंत्री हेन ने कहा कि स्पाइडर ग्राउंड बेस्ट एयर डिफेंस सिस्टम जैसे मिसाइल को सिंगापुर से फायर करना मुश्किल है, क्योंकि हम एक छोटे देश हैं। राजनाथ ने चांदीपुर टेस्ट रेंज के इस्तेमाल और मानवीय सहायता एवं आपदा राहत (एचएडीआर) पर अपने सिंगापुर के समकक्ष के साथ विस्तृत चर्चा की। दोनों के बीच रक्षा साझीदारी, सूचना का आदान-प्रदान, भारत में छोटे सैटलाइट की प्रक्षेपण, डेटा शेयरिंग,आर्टिफिशल इंटेलिजेंस और साइबर सिक्यॉरिटी पर भी बात हुई। राजनाथ सिंह ने आगामी डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर को देखते हुए सिंगापुर को शोध, विकास और टेस्टिंग फेसिलिटी के क्षेत्र में निवेश के लिए आमंत्रित किया।

अजय झा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here