भारत आज करेगा एक और 3500 किमी. मारक क्षमता वाले परमाणु परीक्षण

6470
0
SHARE

डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गेनाइजेशन आज समुद्र के अंदर न्यूक्लियर मिसाइल परीक्षण करने जा रहा है। भारत की ओर से इस न्यूक्लियर मिसाइल को K-4 का नाम दिया गया है। यह मिसाइल 3500 किलोमीटर दूर तक सटीक निशाना साध सकती है। यह देश की दूसरी अंडरवॉटर मिसाइल है। K-4 न्यूक्लियर मिसाइल से पहले भारत ने B0-5 न्यूक्लियर मिसाइल का सफल परीक्षण किया था। इस मिसाइल की मारक क्षमता 700 किलोमीटर से भी अधिक बताई जा रही थी। रक्षा सूत्रों के मुताबिक K-4 भारत की सबसे शक्तिशाली अंडरवॉटर मिसाइल होगी। बताया जाता है कि K-4 न्यूक्लियर मिसाइल का परीक्षण पिछले महीने ही करना था लेकिन किसी कारण से इसे टाल दिया गया था।

आपको बता दें की भारत अगर K-4 न्यूक्लियर मिसाइल का सफल परीक्षण कर लेता है तो वह अमेरिका, फ्रांस, चीन, ब्रिटेन और रूस के बाद छठा ऐसा देश होगा जिसके पास वॉटर न्यूक्लियर मिसाइल होगी। देश की पहली न्यूक्लियर आर्म्ड सबमरीन आईएनएस अरिहंत को अगस्त 2016 में नेवी को सौंपा गया था। उस समय से ही इस बात को लेकर चर्चा थी कि आईएनएस अरिहंत से ही न्यूक्लियर मिसाइल को दागा जाएगा। गौरतलब है की भारत और पाकिस्तान दोनों देशों के पास बैलिस्टिक मिसाइल हैं। दोनों देशों के बैलिस्टिक मिसाइल न्यूक्लियर हथियार ले जाने में सक्षम हैं। भारत के पास नौ तरह की बैलिस्टिक मिसाइल हैं। इसमें अग्नि-3 की क्षमता सबसे अधिक है। अग्नि-3 मिसाइल की रेंज 3 हजार किलोमीटर से लेकर 5 हजार किलोमीटर तक की है।

अजय झा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here