भारत को फ्रांस में मिला पहला राफेल,एयर मार्शल ने एक घंटे तक भरी उड़ान

5625
0
SHARE

भारतीय वायुसेना को जिस राफेल विमान का लंबे समय से इंतजार था आख़िरकार देश को मिल ही गया। भारतीय वायुसेना ने गुरुवार को पहला राफेल लड़ाकू विमान फ्रांस में रिसीव कर लिया है। जानकारी के अनुसार विमान रिसीव करते समय फ्रांस में डिप्टी एयर फोर्स चीफ मार्शल वी.आर. चौधरी राफेल विमान को लगभग एक घंटे तक हवा में उड़ाया।भारत और फ्रांस के बीच 60 हजार करोड़ रुपए के समझौते के मुताबिक पहला राफेल भारत को एक्सेप्टेंस मोड में सौंपा जाना था। अगले सात महीने तक इस विमान को फ्रांस में परीक्षणों से गुजरना होगा। यह वही राफेल विमान है जिसकी डील में कथित घोटाले को लेकर भारत में जमकर राजनीति हुई थी। लोकसभा चुनाव के दरम्यान भी इसको लेकर सभी विपक्षी दलों ने जमकर राजनीतिक रोटियां सेकी थी।

बता दें कि लड़ाकू विमान राफेल मीटिओर मिसाइल से लैस है, जिसकी मारक क्षमता पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों से कहीं अधिक है। इसके साथ ही SCALP से पड़ोसी देश का लगभग हर इलाका इस विमान की रेंज में होगा। आधिकारिक तौर पर पहला राफेल 8 अक्टूबर को भारत को सौंपा जाएगा। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह फ्रांस पहुंचकर पहले राफेल को भारतीय वायुसेना में शामिल करेंगे। गौतलब है कि भारत के पास आने वाला यह सबसे आधुनिक और अधिक मारक क्षमता वाला विमान है। इन विमानों को भारत लाने में देरी इसलिए हो रही है कि राफेल विमानों के परीक्षण और ट्रेनिंग के लिए भारतीय पायलट इन्हें फ्रांस में कम-से-कम 1,500 घंटे उड़ाएंगे। उड़ान के दौरान राफेल विमान SCALP मिसाइल से लैस होंगे, जो 300 किलोमीटर की रेंज में जमीन पर वार कर सकती है। ट्रेनिंग और परीक्षण पूरा होने के बाद राफेल को वायुसेना के अंबाला बेस पर तैनात किया जाएगा।

अजय झा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here