हिंदी दिवस 2019 : दुनिया में हिंदी भाषा का बढ़ता साम्राज्य

5893
0
SHARE

हिंदी को सबसे पहले 14 सितंबर, 1949 के दिन राजभाषा का दर्जा मिला था। जिसके बाद हर साल इस दिन को हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है। हिंदी भाषा भारत की आधिकारिक भाषा और संयुक्त अरब अमीरात में मान्यता प्राप्त अल्पसंख्यक भाषा है। हिंदी भारत में लगभग 4.25 करोड़ लोगों की पहली भाषा है और करीब 12 करोड़ लोगों की दूसरी भाषा है। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने कहा था कि राष्ट्रीय व्यवहार में हिन्दी को काम में लाना देश की उन्नति के लिए आवश्यक है ,लेकिन अब दुनिया इसका लोहा मान रही है। गौरतलब है हिंदी दुनिया में इंटरनेट पर सबसे तेज गति से बढ़ने वाली भाषा बनी इंटरनेट पर 94% की गति से हिंदी बढ़ रही इतना ही नहीं हिंदी का शब्दकोश पिछले 20 सालों में इतना समृद्ध हुआ उसमें शब्दों की संख्या 20000 से बढ़कर डेढ़ लाख हो गई।गौरतलब है की दुनिया में 650 भाषाएं बोली लिखी और पढ़ी जाती है। लेकिन इन सारी भाषाओं के बीच हिंदी का झंडा दिन-ब-दिन बुलंद हो रहा है और यही कारण है कि पिछले कुछ दिनों में 900 से ज्यादा हिंदी शब्दों को ऑक्सफोर्ड जैसी प्रतिष्ठित अंग्रेजी की डिक्शनरी जगह दे दी है।नारी शक्ति जैसे हिंदी के शब्द तो 2017 में शब्द ऑफ द ईयर के खिताब से नवाजे गए थे। सूर्य नमस्कार अच्छा बापू आधार जैसे हिंदी शब्दों को अंग्रेजी ने बड़े ही चाव से अपना लिया है। इसी तरह दादागिरी जुगाड़ चाचा चौधरी चमचा पायजामा महाराजा पंडित ठग, मुगल, पापड़, चटनी, गुरु, अरे यार जैसे शब्द भी अंग्रेजी डिक्शनरी में अपनी जगह बना चुके हैं। पिछले चार दशक में हिंदी बोलने वाले लोगों की संख्या 19% तक बढ़ गई है। कभी दक्षिण भारत में हिंदी के नाम पर विरोध की राजनीति की जाती थी उसे दक्षिण भारत में पिछले 5 साल में हिंदी सीखने वाले लोगों की संख्या 22% तक बढ़ गई।

आज लगभग हर बैंक की हिंदी में भी वेबसाइट है। फिर चाहे वो सरकारी बैंक हो या प्राइवेट। अमेजन इंडिया ने हाल ही में अपना एप हिंदी में लॉन्च किया है। ओएलएक्स, क्विकर जैसे प्लेटफॉर्म पहले ही हिंदी में उपलब्ध हैं। स्नैपडील भी हिंदी में आ चुका है। हिंदी दुनिया में सब चौथी सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा है, इसे 170 देशों में पढ़ाया जाता है। बता दें कि नेपाल में हिंदी भाषी लोगों का दूसरा सबसे बड़ा समूह है। संयुक्त राज्य अमेरिका हिंदी भाषी लोगों के तीसरे सबसे बड़े समूह का घर है। लगभग 650, 000 लोग यहां हिंदी भाषा बोलते हैं। मॉरीशस के एक तिहाई लोग हिंदी भाषा बोलते हैं। फिजी में हिंदी भाषा भारतीय मजदूरों के यहां आगमन के बाद आई। फिजी में ये उत्तर पूर्वी भारत से आए, जहां अवधी, भोजपुरी और कुछ हद तक मगही बोलियां बोली जाती थीं।न्यूजीलैंड-भारत सस्टेनेबिलिटी चैलेंज 2017 के अनुसार, हिंदी न्यूजीलैंड में “चौथी सबसे अधिक बोली जाने वाली” भाषा है। वहीं जर्मनी में तो कई दशकों से हीडलबर्ग, लीपजिग और बॉन सहित विश्वविद्यालयों और शहरों में हिंदी और संस्कृत पढ़ाई जा रही है।बता दें कि भारत के बाहर तकरीर करीब 600 हिंदी के संस्थान हैं जो लोगों को हिंदी पढ़ा रहे हैं। नासा के भाषा विभाग प्रमुख डॉ ब्रिक्स ने कहा है कि हिंदी दुनिया की एकमात्र फोनेटिक भाषा है। भविष्य में हिंदी ही कंप्यूटर की भाषा होगी। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष और गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार हिंदी दिवस के अवसर पर देशवासियों को शुभकामनाएं दी और कहा कि हिन्दी देश को एकता की डोर में बांधने का काम कर सकती है।

अजय झा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here