मोदी ने ट्रंप के सामने कहा- कश्मीर द्विपक्षीय मुद्दा, कश्मीर पर किसी देश को कष्ट नहीं देना चाहते

10778
0
SHARE

फ्रांस में हो रहे जी-7 शिखर सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के बीच सोमवार को कश्‍मीर और अन्‍य मुद्दों पर बातचीत हुई। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ट्रंप ने एक संयुक्‍त प्रेस वार्ता की। इस प्रेस वार्ता में ट्रंप ने कहा कि मैंने पीएम मोदी से बात की थी।  उन्‍होंने भरोसा दिलाया की सब ठीक है। वहीं पीएम मोदी ने कहा कि  कश्मीर भारत और पाकिस्तान का द्विपक्षीय मसला है और हम इस पर किसी भी देश की मध्यस्थता नहीं चाहते। मोदी ने कहा कि भारत को भी गरीबी के खिलाफ लड़ना है और पाकिस्‍तान को भी गरीबी के खिलाफ लड़ना है। हम दोनों देश मिलकर इन असुविधाओं के खिलाफ लड़ें। हमनें ये संदेश पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री को भी दिया है। भारत पाकिस्‍तान मिलकर अपनी परेशानियों से लड़ेंगे। पीएम मोदी ने कहा कि भारत और पाकिस्‍तान के आपसी मुद्दे हैं, हम दुनिया के किसी भी देश को इसका कष्‍ट नहीं देते हैं।

आपको बता दें की भारत जी-7 समूह का हिस्‍सा नहीं है, लेकिन, विशेष आमंत्रित सदस्‍य है।  जी-7 बैठक पर आज दुनियाभर के देशों की नजर टिकी हुई है। वैश्विक अर्थव्यस्था में सुस्ती और ट्रेड वॉर को लेकर बढ़ती चिंता को देखते हुए सभी जी-7 सदस्य देश चर्चा कर सकते हैं और कुछ अहम निर्णय भी ले सकते हैं। जी-7 समिट में प्रधानमंत्री मोदी को एक खास सहयोगी के तौर पर आमंत्रित किया गया है। मोदी जलवायु परिवर्तन, जैवविविधता, सामुद्रिक और डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन से जुड़े कई सत्रों में हिस्सा लेंगे। इसके अलावा वे दुनिया के कई नेताओं से मुलाकात भी करेंगे।

 अजय झा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here