बाहुबली विधायक अनंत सिंह पर FIR दर्ज, कभी भी हो सकते हैं गिरफ्तार

12525
0
SHARE



बाहुबल और अपराध से बिहार के सफेदपोशों का पुराना नाता रहा है। बात जब विधायक अनंत सिंह की आती है तो इनके नाम के साथ ही पहचान के तौर पर ‘बाहुबली’ और राजनेता जैसे शब्द जुड़ जाते हैं। बिहार के इस सफेदपोश चेहरे के किस्से भी नाम की तरह ही अनंत हैं। यानी एक से बढ़ कर एक किस्से। बात चाहे अपराध जगत की हो, सोनपुर के मेले में सबसे महंगा घोड़ा खरीदने, रेस जीतने या कोई विवादास्पद बयान की। अनंत सिंह हमेशा सुर्ख़ियों में बने रहते हैं। इलाके में ‘छोटे सरकार’ के नाम से चर्चित बिहार के इस बाहुबली का नाम एक बार फिर से सुर्खियों में है। इस बार इनके पैतृक घर पर बिहार पुलिस ने छापेमारी की है, जिसमें AK-47 और ग्रेनेड बरामद हुआ है। इस मामले में पुलिस ने UAPA एक्ट के तहत केस दर्ज किया है।पुलिस मुख्यालय ने जांच में लगे अधिकारियों को कोर्ट से वारंट लेकर गिरफ्तार करने को कहा है। पुलिस सूत्रों के अनुसार एके 47 बरामदगी के बाद अब विधायक अनंत सिंह की गिरफ्तारी किसी भी वक्त हो सकती है। सबसे बड़ा सवाल ये है कि बाहुबली विधायक अनंत सिंह के आवास पर छापेमारी में बरामद एके-47 का कनेक्शन कहां से है? क्या हैंड ग्रेनेड या बाकी हथियार का संबंध सेना से है? इसके लिए सेना के अधिकारियों को बुलाया गया है।सूत्रों की मानें तो पुलिस इस मामले में तेजी से कार्रवाई करेगी। इसकी तैयारी भी महकमे ने शुरू कर दी है। हालांकि, विधायक अनंत सिंह ने सरकार पर उन्हें फंसाने का आरोप लगाया है। उनका आरोप है कि राज्य सरकार ही उनके खिलाफ साजिश रच रही है। एक बयान में अनंत सिंह ने कहा कि एके 47 पुलिस ने ही उनके घर में रख दी है। उन्होंने इसके लिए जदयू सांसद ललन सिंह और राज्य के मंत्री नीरज पर साजिश का आरोप लगाया है। बता दें कि एक फोन कॉल का ऑडियो वायरल होने के बाद उन पर दो लोगों की हत्या की साजिश रचने का आरोप लगा है। इसी सिलसिले में वह FSL के समक्ष उपस्थित भी हो चुके हैं। इसकी रिपोर्ट का इंतजार पुलिस टीम कर रही है। अनंत सिंह पर अपराध से जुड़े मामलों की फेरहिस्त काफी लंबी है। हत्या की साजिश रचने के इस केस को जोड़ लें तो उन पर अभी तक अपराध के 53 अलग-अलग मामले दर्ज हैं। अब हथियार मिलने से विधायक की मुश्किलें अब और भी बढ़ गई हैं। वहीं AK-47 और ग्रेनेड बरामदगी के बाद प्रदेश की सियासत भी गर्म हो गई है। विपक्ष पूरी तरह से अनंत सिंह के साथ खड़ा होकर सरकार पर हमलावर हो गई है। विपक्ष इसे पूरी तरह से सरकार की साजिश बता रहा है। कल जहां राजद नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने अनंत सिंह के पक्ष में खड़ा होते हुए इसे नीतीश सरकार और जेडीयू सांसद का साजिश बताया था, वहीं आज पूर्व सांसद पप्पू यादव और पूर्व सीएम जीतन राम मांझी भी अनंत सिंह के पक्ष में खड़े हो गए है।

अजय झा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here