केरल में गरजे मोदी और राहुल

4247
0
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मालदीव जाने से पहले केरल के त्रिसूर में गुरुवायुरप्पन मंदिर में पूजा-अर्चना की। इस दौरान गुरुवायुरप्पन मंदिर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कमल के फूल से तौला गया। पूजा-अर्चना करने के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने कार्यकर्ताओं की ‘अभिनव सभा’ को संबोधित करते हुए कहा कि राजनीतिक पंडित जनता का मिजाज नहीं पहचान पाए। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि केरल मेरे लिए बनारस जैसा है। पीएम ने कहा कि जिन्होंने हमें नहीं जिताया वो सभी भी हमारे ही हैं। राजनीति में हम केवल सत्ता के लिए नहीं आए हैं। राजनीति में हम देश बनाने आए हैं। हम जनसेवक है और जनता के लिए समर्पित हैं। पीएम मोदी ने कहा भले ही यहां हमारा खाता नहीं खुला, लेकिन जनता का आभार जताने के लिए आया हूं। ये हमारी सोच और संस्कार हैं। गुरुवायूर शहर में स्थित गुरुवायुरप्पन मंदिर करीब 5 हजार साल पुराना है। इसे दक्षिण की द्वारिका भी कहा जाता है। इससे पहले 2008 में मोदी ने इस मंदिर का दौरा किया था, जब वह दूसरी बार गुजरात के मुख्यमंत्री बने थे। शनिवार को मालदीव में रुकने के बाद रविवार को मोदी श्रीलंका पहुंचेंगे।रविवार को लौटते हुए आंध्र प्रदेश भी जाएंगे और तिरुपति मंदिर में भगवान वेंकटेश्वर स्वामी के दर्शन करेंगे। वहीं केरल स्थित संसदीय क्षेत्र वायनाड की यात्रा के दूसरे दिन भी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर तीखा हमला जारी रखा।उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के लिए उनका प्रचार अभियान ‘झूठ, जहर और घृणा’ से भरा हुआ था, जबकि कांग्रेस सच्चाई, प्यार और लगाव के साथ खड़ी थी। अपने संसदीय क्षेत्र में रोड-शो के बाद कालपेटा में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि उनकी पार्टी मोदी, उनके झूठ और घृणा के खिलाफ प्यार के हथियार से लड़ाई जारी रखेगी। उन्होंने यह भी कहा कि मोदी ‘गुस्सा, झूठ, असहिष्णुता और देश की सबसे खराब भावनाओं’ को दर्शाते हैं। गांधी ने वायनाड में रोड-शो किया। इस दौरान सड़कों पर भारी भीड़ रही और लोगों ने अपने नव-निर्वाचित सांसद का स्वागत किया। राहुल ने वहां मौजूद लोगों से कहा, ‘राष्ट्रीय स्तर पर हम जहर से लड़ रहे हैं। मोदी का प्रचार झूठ, जहर, घृणा और देश के लोगों के विभाजन से भरा हुआ था। उन्होंने चुनाव में झूठ का इस्तेमाल किया…. कांग्रेस सच्चाई, प्यार और लगाव के साथ खड़ी रही। उन्होंने कहा कि मैं केरल का सांसद हूं। यह मेरी जिम्मेदारी है कि न सिर्फ वायनाड बल्कि पूरे केरल के नागरिकों से जुड़े मुद्दों को आवाज दूं। आपको बता दें कि राहुल ने केरल और उत्तरप्रदेश की दो सीटों पर चुनाव लड़ा था। अमेठी में उन्हें स्मृति ईरानी से हार मिली, जबकि वायनाड में राहुल 4 लाख 31 हजार से ज्यादा वोट से जीते थे। वायनाड से जीतने के बाद राहुल का केरल का यह पहला दौरा है।

अजय झा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here