देशभर में पूरे उत्साह से मनाई जा रही ईद,करीब 1400 साल पहले मनी थी पहली ईद

5443
0
SHARE

देशभर में ईद-उल-फितर का त्योहार पूरे जोश और उत्साह से मनाया जा रहा है। सुबह से ही देशभर की मस्जिदों, ईदगाहों में नमाज पढ़ने वालों का तांता लगा रहा। रोजेदारों का आखिरकार वो वक्त गया जिसका बेसब्री से इंतजार था। एक महीने के रोजे के बाद बुधवार को ईद उल फितर की नमाज अदा की गई। इस मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ,प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश वासियों को ईद की बधाई दी।राष्ट्रपति ने कहा, ”इस दिन हम खुद को उन चिर मूल्यों के प्रति खुद को समर्पित करें जो हमारी सभ्यता को दर्शाते हैं। वहीं बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने प्रदेश के लोगों को ईद की बधाई दी है। नरेंद्र मोदी सरकार ने ईद पर मुस्लिम युवाओं को बड़ा तोहफा दिया है। यह तोहफा है पढ़ाई-लिखाई के लिए केंद्रीय अल्‍पसंख्‍यक कार्य मंत्री मुख्‍तार अब्‍बास नकवी ने अपने मंत्रालय के अधिकारियों के साथ बैठक करने के बाद अगले पांच साल में 5 करोड़ विद्यार्थियों को ‘प्रधानमंत्री छात्रवृत्ति’ देने का एलान किया। खास बात ये है कि इसमें से करीब ढ़ाई करोड़ यानी 50 प्रतिशत छात्राएं होंगी। ईद-उल-फितर को मीठी ईद के रूप में भी जाना जाता है। हिज़री कैलेंडर के अनुसार दसवें महीने यानी शव्वाल के पहले दिन ये त्योहार दुनिया भर में मनाया जाता है। इस्लामी कैलेंडर में ये महीना चांद देखने के साथ शुरू होता है। जब तक चांद नहीं दिखे तब तक रमजान का महीना खत्म नहीं माना जाता। इस तरह रमजान के आखिरी दिन चांद दिख जाने पर अगले दिन ईद मनाई जाती है। ऐसा भी माना जाता है कि इस दिन हजरत मुहम्मद मक्का शहर से मदीना के लिए निकले थे।आपको बता दें कि मक्का से मोहम्मद पैगंबर के प्रवास के बाद पवित्र शहर मदीना में ईद-उल-फितर का उत्सव शुरू हुआ। माना जाता है कि पैगम्बर हजरत मुहम्मद ने बद्र की लड़ाई में जीत हासिल की थी। इस जीत की खुशी में सबका मुंह मीठा करवाया गया था, इसी दिन को मीठी ईद या ईद-उल-फितर के रुप में मनाया जाता है। इस्लामिक कैलेंडर के अनुसार हिजरी संवत 2 यानी 624 ईस्वी में पहली बार (करीब 1400 साल पहले) ईद-उल-फितर मनाया गया था। पैगम्बर हजरत मुहम्मद ने बताया है कि उत्सव मनाने के लिए अल्लाह ने कुरान में पहले से ही 2 सबसे पवित्र दिन बताए हैं। जिन्हें ईद-उल-फितर और ईद-उल-जुहा कहा गया है। इस प्रकार ईद मनाने की परंपरा अस्तित्व में आई।

अजय झा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here