फिल्म स्टार सुशांत सिंह राजपूत17 साल बाद बिहार में अपने गांव पहुंचे,कराया मुंडन संस्कार

11136
0
SHARE

बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत अपने पैतृक गांव बी कोठी प्रखंड के मलडीहा पहुंचे। धारावाहिक ‘पवित्र रिश्ता’ से बॉलीवुड में कदम रखने वाले अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत, अपने चचेरे भाई और छातापुर के निवर्तमान विधायक नीरज कुमार सिंह ‘बबलू’ और भाभी नूतन सिंह जोकि बिहार विधान परिषद की सदस्य भी हैं, के साथ गांव पहुंचे। यहां उन्होंने कुल देवी-देवता, ग्राम देवता और ऐतिहासिक बाबा बरूनेशवर मंदिर में पूजा अर्चना की।अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत 17 सालों के बाद अपने पैतृक गांव बड़हरा कोठी प्रखंड के मलडीहा गांव पहुंचे। जैसे ही लोगों को अभिनेता के गांव आगमन की सूचना मिली उनके फैन्स एक झलक पाने को मलडीहा पहुंचने लगे। यहां हर कोई सेल्फी और ऑटोग्राफ लेने को बेताब दिखे। सुशांत अपने फैन्स का ख्याल रखते हुए सबके भावनाओं का ख्याल रखते हुए सभी का अभिवादन करते हुए नजर आए। अभिनेता के मंदिर पहुंचते ही उपस्थित श्रद्धालु उन्हें एक नजर देख लेने को बेताब दिखे। बरनेश्वर में सभी मंदिर में पूजा अर्चना करने के उपरांत अभिनेता ने सभी परिजनों के अलावा अपने फैन्स के साथ फोटो भी खिंचवाए।

बाहर रहने के बाबजूद परिवार के लोग मैथिल संस्कृति को नहीं भूले हैं। बी कोठी में अपने घर पर कुल देवी की पूजा कर ननिहाल खगड़िया रवाना हुए।  जहां उनका मुंडन समारोह हुआ। सुशांतअपने गांव पहुंचकर अपने सारे रिश्तेदार से भी मिले। गांव के लोगों ने उन्हें बचपन मे देखा था सहसा उन्हें एहसास नहीं हो रहा था कि पूर्णिया का छोरा इतने बड़े मुकाम पर पहुंच जाएगा।सुशांत जब अपने खेत और आम के बगीचा को देखने निकले तो वहां भी उनके फैंस ने पीछा नहीं छोड़ा। उन्होंने किसी को निराश नहीं किया सभी के साथ सेल्फी ली। आपको बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत पूर्णिया जिले के बी कोठी प्रखंड के रहने वाले है। उनके पिता सरकारी अधिकारी हैं। उनका परिवार सन् 2000 के शुरूआती समय में दिल्ली में बस गया। सुशांत की शुरूआती पढ़ाई सेंट कैरेंस हाई स्कूल, पटना से हुई है और इसके आगे की पढ़ाई दिल्ली के कुलाची हंसराज मॉडल स्कूल से हुई है। इसके बाद उन्होंने दिल्ली कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग से उन्होंने मैकेनिल इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की। बॉलीवुड मे सुशांत सिंह राजपूत ने कई हिट फिल्म देकर बड़े अभिनेताओं की क़तर में न सिर्फ अपनी जगह बनाई है, बल्कि बिहार का भी नाम भी रौशन किया है।

अजय झा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here