बिहार की धरती पर पीएम मोदी और राहुल गाँधी एक दूसरे पर गरजे

15735
0
SHARE

2019 के लोकसभा चुनाव के पहले और दूसरे चरण के चुनाव के बाद अब सबकी निगाहें तीसरे चरण पर लग गई है। इसमें बिहार के अररिया, सुपौल,मधेपुरा झंझारपुर, और खगड़िया में चुनाव होंगे।बिहार की धरती पर महज 70 किलोमीटर की दूरी पर पीएम मोदी और राहुल गाँधी एक दूसरे पर गरजे। प्रधानमंत्री मोदी आज अररिया के फारबिसगंज में विजय संकल्प रैली को संबोधित किया। वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आज बिहार के सुपौल में चुनावी सभा को संबोधित किया। पीएम मोदी ने कहा की हमारी सरकार में आतंकवाद के खिलाफ पहले सर्जिकल स्ट्राइक हुई और फिर एयर स्ट्राइक हुई। परिणाम ये हुआ की जो पाकिस्तान पहले चोरी और सीना जोरि करता था वो आज दुनिया में जाकर गुहार लगा रहा है। भारत ने आतंकियों को घर में घुसकर मारा। उन्होंने कहा कि जब 26 /11 को आतंकियों ने हमला किया तो कांग्रेस सरकार ने सेना को कोई भी जवाब देने से मन कर दिया। कांग्रेस ने पाकिस्तान से आये आतंकिओं को जवाब देने के बजाय हिन्दुओं के साथ आतंकी शब्द चपकाने की साजिश की। योजना बनाकर जाँच की पूरी दिशा ही बदल दी। वहीं पीएम मोदी ने कहा कि ओडिशा, बिहार , पश्चिम बंगाल,और नॉर्थ ईस्ट सहित सभी क्षेत्रों का सम्पूर्ण विकास है। हमें मिलकर एकजुट होकर विकास के संकल्प को सिद्धि तक पहुचाना है। हमें मिलकर चौकीदारी करनी है। अपनी योजना की तारीफ करते हुए मोदी ने कहा कि दुनिया सबसे बड़ी हेल्थ केयर स्कीम “आयुष्मान भारत ” देश में चल रही है। इसके तहत हर वर्ष गरीबों को 5 लाख रूपये तक का मुफ्त इलाज मिलना सम्भव हुआ है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी सुपौल में एक जनसभा को संबोधित करते हुए एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा। राहुल गांधी ने कहा कि चौकीदार ने बिहार के युवाओं को बदनाम किया है। पूरे देश में बिहार के युवा जाकर बैंक और सरकारी ऑफिसर के सामने चौकीदार का काम करते हैं, लेकिन जो यहां से जो चौकीदार बनकर जाता है तो वो ईमानदार होता है। अगर कोई बिहार का चौकीदार बैंक के सामने खड़ा मिले तो उस बैंक में चोरी नहीं हो सकती। राहुल गांधी ने कहा कि मोदी विजय माल्या और नीरव मोदी के चौकीदार हैं। साथ की कांग्रेस प्रत्याशी रंजीता रंजन को जितने की अपील की। वहीँ राहुल ने मंच से तेजस्वी का नाम लेते हुए कहा कि बिहार में कुशवाहा, मांझी, तेजस्वी के साथ मिलकर सरकार बनाएंगे। लेकिन राहुल गाँधी के पहले गया और सुपौल के चुनावी मंच से तेजस्वी नदारद दिखे।माना जा रहा है की तेजस्वी की नाराजगी इस बात को लेकर है कि रंजीता रंजन के पति पप्पू यादव महागठबंधन प्रत्याशी शरद यादव के खिलाफ मधेपुरा से लड़ रहे हैं।

अजय झा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here