रालोसपा के सीतामढ़ी से सांसद रामकुमार शर्मा ने छोड़ दी पार्टी, कुशवाहा पर लगाया टिकट बेचने का आरोप

18857
0
SHARE

राष्ट्रीय लोक समता पार्टी पूरी तरह से बिखर चुकी है। पार्टी के सभी पुराने सहयोगी पार्टी को अलविदा कह चुके हैं। रालोसपा में बगावत के सुर लगातार बुलंद हो रहे हैं। ताजा मामला उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी के सांसद रामकुमार शर्मा से जुड़ा है। सीतामढ़ी से सांसद रामकुमार शर्मा ने उपेंद्र कुशवाहा पर गम्भीरआरोप लगाते हुए कहा है कि कुशवाहा ने पैसे लेकर मोतिहारी और बेतिया की सीट बेच दी है। उन्होंने कहा मोतिहारी सीट तीन बार बेचा साथ ही बेतिया सीट ब्रजेश कुशवाहा को बेच दिया। शर्मा ने प्रदेश की जनता से आरएलएसपी को सभी सीटों पर हराने की अपील की। रामकुमार शर्मा ने कहा कि मैं सीतामढ़ी से निर्दलीय चुनाव नहीं लड़ूंगा लेकिन ऐसा काम करूंगा जिससे वहां एनडीए का उम्मीदवार जीते और केंद्र में नरेंद्र मोदी की सरकार फिर से बने। इसके साथ ही उन्होंने खुद को पार्टी से अलग करते हुए नए गुट बनाने की भी घोषणा की जिसका नाम आरएलएसपी रामकुमार शर्मा गुट होगा। जिसके राष्ट्रीय अध्यक्ष वो खुद होंगे। आपको बता दें की पिछले लोकसभा चुनाव में मोदी लहर में आरएलएसपी के तीनों सांसद विजय रथ पर सवार हुए उपेंद्र कुशवाहा ,अरुण कुमार और रामकुमार शर्मा। पार्टी से अरुण कुमार पहले ही नाता तोर चुके हैं, राम कुमार शर्मा ने भी पार्टी छोर दी। आरएलएसपी के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष नागमणि ने कुशवाहा पर टिकट बेचने सहित भ्र्ष्टाचार के कई आरोप लगा कर पार्टी छोड़ चुके हैं। पार्टी के दोनों ही विधायक ललन पासवान, सुधांशुशेखर पहले ही बगावत का झंडा बुलंद कर कुशवाहा को औकात दिखा दी है। यहाँ तक की ये विधायक पार्टी पर अपना दवा ठोक रहे हैं। कुछ समय पहले तक आरएलएसपी के द्वारा जिस कुशवाहा को बिहार का सीएम बनाने की बात हो रही थी उसे समझना चाहिए की विधायकों का संख्याबल चाहिए। मौजूदा हालात में पार्टी में कुशवाहा के अलावा न तो कोई सांसद ही बचे हैं और न ही कोई विधायक। ऐसे में अगर मधु कोड़ा की तरह किस्मत हो तभी कुशवाहा के सपने पुरे हो सकते हैं। वहीं कुशवाहा के बेहद करीबी रहे प्रदीप मिश्रा जो पार्टी के लिए फण्ड की व्यवस्था करते थे उन्होंने भी कुशवाहा पर भ्र्ष्टाचार के कई संगीन आरोप लगाए। अब सवाल ये उठता है की इन तमाम नेताओ के द्वारा जो संगीन आरोप उपेंद्र कुशवाहा पर लगाए गए हैं उसकी वजह कही इन नेताओ का टिकट कटना तो नहीं है। लेकिन अगर कुशवाहा पर लगे सारे आरोप सही हैं तो ऐसे में पार्टी का इस लोकसभा चुनाव में खाता खुल जाये तो यही बहुत बड़ी बात होगी।

अजय झा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here