शहीदों की शहादत को सलाम, बदला मांगे हिंदुस्तान

24666
0
SHARE

 कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी यानि गुरुवार को  आतंकवादी हमले में 42  सीआरपीएफ के जवान शहीद हो गए।  फिदायीन हमले के विरोध में देश भर में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। आम नागरिकों ने जगह-जगह कैंडल मार्च निकाले। लोग आतंकवादियों को खत्म करने और पाकिस्तान को सबक सिखाने की मांग कर रहे हैं। गुस्साये नागरिकों ने पाकिस्तान का पुतला जलाया और पाक मुर्दाबाद के नारे लगाये।  देश के अन्य हिस्सों की तरह बिहार में भी आतंकी हमले का विरोध किया गया।

PHOTOS: छुट्टी से लौट रहे थे CRPF के जवान, जैश ने काफिले पर कर दिया IED ब्लास्ट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चेतावनी दी कि कि ‘इन शहीदों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। पुलवामा के गुनाहगार कहीं भी छिप जाएं, उन्हें सजा जरूर दी जाएगी। सैनिकों में और विशेषकर सीआरपीएफ में जो गुस्सा है, वह भी देश समझ रहा है। इसलिए सुरक्षाबलों को खूली छूट दी गई है।

बिहार के दो सपूतों ने भी पुलवामा में शहादत दी है। तारेगना के संजय कुमार सिन्हा और दूसरे भागलपुर के रतन कुमार ठाकुर सीआरपीएफ में अपनी सेवा दे रहे थे।मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सहित बिहार के कई मंत्री और विधायक ने इन शहीदों को श्रद्धांजलि दी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार के दोनों शहीदों के परिजनों के लिए 36 -36 लाख रुपये के मुआवजे का ऐलान किया है। ये सहायता राशि वर्तमान में 11 लाख रुपये के मुआवजे के प्रावधान के साथ अतिरिक्त 25-25 लाख रुपये दिए जाएंगे।   सीएम ने घोषणा की है कि शहीदों के परिवार की सहायता के लिए सरकार नए नियम बनाएगी। उन्होंने कहा कि पुराने नियमों के अलावा भी शहीदों के परिजनों को मदद दी जाएगी। नीतीश कुमार ने कहा कि शहीदों की बेटियों की शादी की खर्च भी बिहार सरकार उठाएगी।

पुलवामा जिले में हुए आतंकी हमले को लेकर हिमाचल के बद्दी जिले की पुलिस ने एक छात्र को गिरफ्तार किया है। आरोप है कि छात्र ने पुलवामा आतंकी हमले के बाद सोशल मीडिया पर एक देश विरोधी पोस्ट शेयर किया।  उस फेसबुक पोस्ट में लिखा था कि उसे इस हमले की पहले से जानकारी थी। जिसपर छात्र ने हमलावर को लिखा था कि खुदा आपको जन्नत बख्शे।  पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। अब देखना ये है की हिंदुस्तान एक और सर्जिकल स्ट्राइक करता है या पाकिस्तान को कूटनीतिक रूप से अलग-थलग करने की कोशिश करता है।

अजय झा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here