सुशील मोदी ने पेश किया बिहार का बजट

33775
0
SHARE

बिहार के वित्तमंत्री सुशील मोदी ने सदन में 2 लाख करोड़ का बिहार का बजट पेश किया। इस बजट की बड़ी विशेषता ये है कि इसमें सबसे ज्यादा खर्च शिक्षा मद में किया गया है। बजट में कुल पूंजीगत व्यय 45 हजार 270 करोड़ रुपए का है। वेतन पेंशन एवं ब्याज भुगतान पर 88 हज़ार 188 करोड़ व्यय किए जाएंगे। बजट पेश करने के दौरान सुशील मोदी ने कहा कि ग्रोथ रेट में बिहार पहले नंबर पर है। बिहार सरकार शिक्षा पर सबसे ज्यादा खर्च करती है। वहीं उन्होंने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में खर्च करने वाले राज्यों में बिहार देश में दूसरे नंबर पर है।



बिहार के वित्तमंत्री सुशील मोदी ने बिहार के बजट में शिक्षा और स्वास्थ्य पर खासा जोर दिया है । 34 हजार 798 करोड़ रुपए शिक्षा पर, लगभग 18 हजार करोड़ रुपए सड़कों पर, ग्रामीण विकास पर 15 हजार 669 करोड़ खर्च, गृह विभाग पर लगभग 11 हजार करोड़ खर्च किए जाएंगे।
वित्त मंत्री ने घोषणा की कि 2019-20 में केंद्र-राज्य सरकार द्वारा नए 11 मेडिकल कॉलेज खोले जाने हैं। सीएम नीतीश कुमार के सात निश्चय योजना के तहत 2019-20 में पेयजल योजना के लिए खास राशि का प्रावधान किया गया है।
सुशील मोदी ने कहा कि विश्व की सबसे बड़ी बालक/बालिका साइकिल योजना योजना के तहत 19-20 में 292 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। पोशाक राशि 1000 से बढ़ाकर 1500 किया गया है, सेनेटरी नैपकिन के लिए दी जाने वाली राशि को बढ़ाकर 300 रुपए किए गए।

बजट की मुख्य बातें –

  • सुशील मोदी ने कहा बिहार का ग्रोथ रेट पूरे देश में सबसे अधिक है।
  • बिहार का विकास दर देश में सबसे ज्यादा 11. 3 प्रतिशत है।
  • सुशील मोदी कहा कि बिहार का राज्यकोष घाटा 3% प्रतिशत है।
  • मंहगाई दर खुदरा 2.7 है, पुंजीगत व्यय 21 प्रतिशत है।
  • मंहगाई दर 2018-19 में 7.9 प्रतिशत रहने का अनुमान है।
  • सुशील मोदी ने कहा 2013 18 के बीच पूरे देश में सबसे ज्यादा रोजगार देने वाला प्रदेश है।
  • बिहार शिक्षा के मामले में खर्च करने में सबसे आगे है।
  • बिहार शिक्षा के मामले में खर्च करने में सबसे आगे है।
  • बिहार अपने ब्याज पर 2017 18 में खर्च मात्र 7.3% है जो कई राज्यों कम है।

वित्त मंत्री ने दावा किया कि बिहार के सभी गांवों में समय सीमा से पहले बिजली पहुंची है जो ऐसा काम करने वाला देश का आठवां राज्य बन गया है। उन्होंने कहा कि अगले दो साल में बिहार के हर घर में बिजली की प्री पेड मीटर लगा दिया जाएगा।
सुशील मोदी ने कहा कि 2004-05 के बजट से ये आठ गुणा ज्यादा का बजट है। 2019-20 में पूंजीगत व्यय पर 45 हजार 2 सौ 70 हजार करोड़ खर्च होगा।

सुशील मोदी ने कहा कि वर्ष 2019-20 में छपरा, पूर्णिया, समस्तीपुर, बेगूसराय, सीतामढ़ी, वैशाली, झंझारपुर, सिवान, बक्सर, भोजपुर एवं जमुई में 11 नये मेडिकल कॉलेज और नालन्दा में 1 डेन्टल कॉलेज का निर्माण प्रारंभ किया जायेगा। उन्होंने कहा कि इन्दिरा गाँधी आयुर्विज्ञान संस्थान, शेखपुरा, पटना में लगभग 138 करोड़ रू० के व्यय से 100 शैय्या का स्टेट कैंसर संस्थान का निर्माण आगामी 20 महीनों में पूरा हो जायेगा।

अजय झा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here